बिहारः तांत्रिक के बहकावे में चाचा ने सगे भतीजा की दी बलि

Share Button

शिवनंदन ने अपने भतीजे को पटाखा दिलाने के बहाने बाजार ले गया और तांत्रिक की बातों में आकर गांव के ही पास बांस बिट्टी में बलि दे दी………..”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। भागलपुर जिले के पीरपैंती के विनोबा टोला में शिवनंदन दास ने अपने 12 वर्षीय भतीजे कन्हैया कुमार की बलि दे दी। कन्हैया सिकंदर दास का पुत्र था।

घटना की बाबत स्थानीय लोगों ने बताया कि शिवनंदन दास की अपनी कोई संतान नहीं थी। किसी तांत्रिक ने उसे दीपावली की रात घर के ही किसी बच्चे की नरबलि देने को कहा था।

तांत्रिक की बातों में ही आकर शिवनंदन रविवार की रात भतीजे को पटाखा दिलाने के बहाने बाजार ले गया और उसकी गांव के ही पास बांस बिट्टी में बलि दे दी। सुबह घटना के बारे में सभी को जानकारी हुई।

जानकारी के अनुसार पीरपैंती थाना के विनोवा टोला के शिवनंदन दास की कोई संतान नहीं थी। इस कारण उन्होंने दो शादियां की। लेकिन इसके बाद भी उसे संतान प्राप्ति नहीं हुई। शिवनंदन को मिर्गी की भी बीमारी थी, जिसका इलाज वो गांव के एक तांत्रिक से करा रहे थे।

इसी क्रम में तांत्रिक ने शिवनंदन से कहा कि अगर वो किसी रिश्तेदार के बच्चे की बलि दे दे तो उसे संतान की प्राप्ति होगी और साथ ही मिर्गी की बीमारी भी खत्म हो जाएगी।

तांत्रिक की बात मानकर शिवनंदन ने सिकंदर दास और मीना देवी के पुत्र कन्हैया कुमार को दीपावली की रात रविवार को बुलाया। उस समय कन्हैया अपने घर के हुक्का-पाती खेलने की तैयारी कर रहा था। कन्हैया तीसरी कक्षा का छात्र था। शिवनंदन ने कहा कि चलो तुमको पटाखा दिलाते हैं। उस समय उसकी मां मीना देवी भी वहीं थी।

शिवनंदन बच्चे को लेकर चला गया। जब देर रात तक कन्हैया नहीं लौटा तो  उसकी मां ने काफी खोजबीन की। लेकिन कुछ पता नहीं चला। अंत में सुबह ग्रामीणों ने घर के सामने ही कुछ देरी पर बसबिट्टी में कन्हैया की सिर कटी हुई लाश देखी।

उसी जगह एक कद्दू भी कटा हुआ था। ग्रामीणों ने अनुसार ऐसा प्रतीत हुआ कि पहले कद्दू की बलि दी गई, फिर कन्हैया की।

मृतक कन्हैया के पिता सिकंदर दास पंजाब में मजदूरी करते हैं। वहीं, कन्हैया का बड़ा भाई कृष्णा भी अपने पिता के साथ ही मजदूरी करता था। कन्हैया सबसे छोटा था। घर में कन्हैया, कन्हैया की मां मीना देवी और मीना देवी का एक और पुत्र चंदन रहता था।

घटना की सूचना सोमवार को पीरपैंती थाना को दी गई। एसडीपीओ डॉ रेषु कृष्णा सहित थानाध्यक्ष व अन्य पुलिसकर्मी वहां पहुंचे। पुलिस शव को पोस्टमार्टम के लिए भागलपुर भेज दिया। तांत्रिक विलास मंडल सहित शिवनंदन दास व अन्य लोग गांव से फरार हैं।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

राजगीर वाइल्ड लाइफ सफारी पार्क निर्माण पर रोक
तू निकली पाकिस्तानी बदरंग हिना !
कोलकाता पुलिस की बड़ी कार्रवाई, पूर्व सीबीआई निदेशक के ठिकानों पर छापेमारी
'इ जनता बा मोदी जी! दौड़ा-दौड़ा के सवाल पूछी'
आखिर अन्ना इतने जिद्दी क्यों हैं !
बिहार के साहब के सामने लोग चिल्लाए- मुर्दाबाद, वापस जाओ!
जरा देखिये- 5 साल में 300 फीसदी बढ़ गई अमित शाह की संपत्ति
दार्जिलिंग बन्द 32वें दिन जारी, स्थिति तनावपूर्ण
रिटायर्ड सिपाही का बेटा लेफ्टिनेंट बन नगरनौसा का नाम किया रौशन
पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या
सलमान खान को 5 साल की सजा, गए जोधपुर सेंट्रल जेल
आज-कल पारिवारिक कलह के भी शिकार हैं शिबू सोरेन
सेना कैंटीन का स्वलाभ लेते यूं कैद हुये ईटीवी (न्यूज 18) के एक वरिष्ठ पत्रकार
राहुल गांधी का सचित्र ट्वीट- 'मानसरोवर के पानी में नहीं है नफरत’
जानिए कौन थे लाफिंग बुद्धा, कैसे पड़ा यह नाम
ममता की रैली में शामिल हुए भाजपा के 'शत्रु', पार्टी ने दिए कार्रवाई के संकेत
महाराष्ट्र: शिवसेना के नेतृत्व में यूं सरकार बननी तय
पटना जैसी जल-जमाव रूपी आपदा के कारण और निदान
झारखंड:झामुमो और भाजपा के बीच सत्ता का फिफ्टी-फिफ्टी का समझौता
फिर हुआ शर्मसार सीएम नीतीश कुमार का नालंदा
बिहार पुलिस विशेष पारितोषिक वितरण समारोह 2019 में ये हुए सम्मानित
झारखण्ड उग्रवाद का दूसरा कुख्यात नाम
नीतीश की अबूझ कूटनीति बरकरारः अब RCP की उड़ान पर PK की तलवार
बाबा रामदेव पर आया राखी सावंत का दिल, शादी की ईच्छा जताई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter