बिहारः छठ के दौरान डूबने से 60 से अधिक लोगों की मौत

Share Button

इंडिया न्यूज रिपोर्टर। बिहार में महपर्व छठ के दौरान नदियों, तालाबों और पोखरों में डूबने से 60 लोगों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा 27 लोगों की मौत कोसी, सीमांचल व पूर्व बिहार में हुई।

उत्तर बिहार और मिथिलांचल में 13 लोगों की जान चली गई, जबकि दक्षिण और मध्य बिहार में 20 लोग डूब गए। इनमें पटना जिले के भी पांच लोग शामिल हैं। मृतकों में अधिकतर बच्चे हैं। सभी की मौत अर्घ्य देने के दौरान या तालाब-पोखरों के घाट निर्माण के वक्त डूबने से हुई।

भागलपुर और खगड़िया में पांच-पांच जबकि कटिहार और पूर्णिया में चार-चार लोगों की जान चली गई। वहीं मधेपुरा और सहरसा में तीन-तीन तथा लखीसराय, जमुई और बांका में एक-एक मौत हो गई।

दूसरी ओर वैशाली जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में छह लोगों की मौत हो गई। इनमें एक युवक और पांच बच्चे शामिल हैं।

बेगूसराय के साहेबपुरकमाल थाना क्षेत्र के न्यू जाफर नगर में छठ घाट पर स्नान के दौरान दो बच्चों की मौत हो गई। जबकि, मंझौल में बूढ़ी गंडक नदी किनारे एक अधेड़ की डूबने से मौत हो गई। इसी जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चिलमिल में एक युवक की मौत हो गई।

बोधगया में महुड़र गांव स्थित जमुनईया नदी में डूबने से किशोर की मौत हो गई, जबकि बाराचट्टी ससुराल आए युवक की आहर में डूबने से जान चली गई।

रोहतास जिले में भी डूबने से दो बच्चों की जान चली गई। भोजपुर के सहार के बड़ुई में सोन नदी में नहाने के दौरान एक युवक डूब गया।जबकि अरवल में सोन नदी में एक युवक की डूब गया। वैशाली जिले में सात लोगों की जान चली गई।

उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर में पांच लोग डूब गए जबकि समस्तीपुर, दरभंगा और पूर्वी चंपारण में दो-दो लोगों की जान चली गई

समस्तीपुर जिले के हसनपुर थाने के बड़गांव स्थित पोखरा में रविवार को अर्घ्य दान के बाद काली मंदिर की दीवार व मूर्ति अचानक से भरभरा कर तालाब में गिर गई।

इसमें दब कर दो छठ व्रतियों की मौत हो गई, जबकि दो पुरुष समेत पांच महिला व्रती गंभीर रूप से जख्मी हो गईं। हसनपुर अस्पताल में इनका इलाज चल रहा है। 

उधर जहानाबाद के देव में अर्घ्य देने के दौरान भारी भीड़ की वजह से हुई भगदड़ में दो बच्चों की मौत हो गई, जबकि 30 से अधिक लोग घायल हो गए। हालांकि प्रशासन ने भीड़ में दबकर दोनों की मौत होने की बात कही है।

शाम में अर्घ्य देने के लिए भारी संख्या में लोग सूर्य कुंड के पास पहुंचे थे। लौटने के क्रम में चौरसिया नगर के समीप बिजली का तार गिरने की अफवाह फैल गई। इसके बाद लोग एक दूसरे को कुचलते हुए निकलने लगे।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
100 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

अन्ना के अनशन को लेकर दिल्ली में कड़ी व्यवस्था का नजारा
यूं फुटपाथ पर जूता सिल जिंदा है आगरा का राष्ट्रपति जीवन रक्षा पदक विजेता
संदर्भ निर्भया गैंगरेपः जानिए फांसी की सजा से जुड़े कुछ अनसुने तथ्य
नालोशिप्रा का राजगीर सीओ को अंतिम आदेश, मलमास मेला सैरात भूमि को 3 सप्ताह में कराएं अतिक्रमण मुक्त
झारखण्ड मे पटना पुलिस हत्याकांड : खुलेगे कई राज
सत्तासीन कांग्रेस: नर है या नारी ?
जॉर्ज साहब चले गए, लेकिन उनके सवाल शेष हैं..
कौन बनेगा झारखण्ड का सीएम?
समस्याओं को लेकर सब बहरे क्यों हो जाते हैं ?
सरकार राजी, अब रामलीला मैदान में होगा अन्ना का अनशन
संविधान के उपर संसद का प्रभुत्व नहीं :सुप्रीम कोर्ट
राष्टीय आंदोलन वनाम बाबा रामदेव और अन्ना हजारे
बिहारशरीफ में गंदगी से लोगों को जीना मुश्किल,प्रशासन लापरवाह
झारखंडी सत्ता का फिफ्टीकरण: ढाई साल तक "गुरूजी" मुख्यमंत्री और उसके बाद उनका बेटा हेमंत सोरेन बनेगा ...
लहरिया बाइकर्स के खिलाफ पटना एसपी की मुहिम में 6 धराए
देश एक बार फिर आपातकाल की ओर.......
सुरक्षा गार्ड की दानवताः 6 वर्षीय बच्ची की पहले गला दबा की हत्या, फिर शव संग किया रेप
"झारखंड:उग्रवादियों से सांठ-गांठ कर अपना प्रभाव बढा रही है इसाई मिशनरियां "
राजगीर के कथित जर्नलिस्ट के होटल समेत कईयों को नोटिश, मामला मलमास मेला की जमीन पर अवैध कब्जा का
कब टूटेगी झारखंडी नेताओ की संकीर्ण मानसिकता?
फालुन गोंग का चीन में हो रहा यूं अमानवीय दमन
स्व. राजीव गांधी फेसबुक पर !!
दैनिक रांची एक्सप्रेस की यह कैसी चाटूकारिता?
वीडिय़ोः MP  ने मंत्री-पुलिस के सामने MLA को जूतों से यूं जमकर पीटा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter