बिहारः छठ के दौरान डूबने से 60 से अधिक लोगों की मौत

Share Button

इंडिया न्यूज रिपोर्टर। बिहार में महपर्व छठ के दौरान नदियों, तालाबों और पोखरों में डूबने से 60 लोगों की मौत हो गई। सबसे ज्यादा 27 लोगों की मौत कोसी, सीमांचल व पूर्व बिहार में हुई।

उत्तर बिहार और मिथिलांचल में 13 लोगों की जान चली गई, जबकि दक्षिण और मध्य बिहार में 20 लोग डूब गए। इनमें पटना जिले के भी पांच लोग शामिल हैं। मृतकों में अधिकतर बच्चे हैं। सभी की मौत अर्घ्य देने के दौरान या तालाब-पोखरों के घाट निर्माण के वक्त डूबने से हुई।

भागलपुर और खगड़िया में पांच-पांच जबकि कटिहार और पूर्णिया में चार-चार लोगों की जान चली गई। वहीं मधेपुरा और सहरसा में तीन-तीन तथा लखीसराय, जमुई और बांका में एक-एक मौत हो गई।

दूसरी ओर वैशाली जिले के अलग-अलग थाना क्षेत्रों में छह लोगों की मौत हो गई। इनमें एक युवक और पांच बच्चे शामिल हैं।

बेगूसराय के साहेबपुरकमाल थाना क्षेत्र के न्यू जाफर नगर में छठ घाट पर स्नान के दौरान दो बच्चों की मौत हो गई। जबकि, मंझौल में बूढ़ी गंडक नदी किनारे एक अधेड़ की डूबने से मौत हो गई। इसी जिले के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चिलमिल में एक युवक की मौत हो गई।

बोधगया में महुड़र गांव स्थित जमुनईया नदी में डूबने से किशोर की मौत हो गई, जबकि बाराचट्टी ससुराल आए युवक की आहर में डूबने से जान चली गई।

रोहतास जिले में भी डूबने से दो बच्चों की जान चली गई। भोजपुर के सहार के बड़ुई में सोन नदी में नहाने के दौरान एक युवक डूब गया।जबकि अरवल में सोन नदी में एक युवक की डूब गया। वैशाली जिले में सात लोगों की जान चली गई।

उत्तर बिहार के मुजफ्फरपुर में पांच लोग डूब गए जबकि समस्तीपुर, दरभंगा और पूर्वी चंपारण में दो-दो लोगों की जान चली गई

समस्तीपुर जिले के हसनपुर थाने के बड़गांव स्थित पोखरा में रविवार को अर्घ्य दान के बाद काली मंदिर की दीवार व मूर्ति अचानक से भरभरा कर तालाब में गिर गई।

इसमें दब कर दो छठ व्रतियों की मौत हो गई, जबकि दो पुरुष समेत पांच महिला व्रती गंभीर रूप से जख्मी हो गईं। हसनपुर अस्पताल में इनका इलाज चल रहा है। 

उधर जहानाबाद के देव में अर्घ्य देने के दौरान भारी भीड़ की वजह से हुई भगदड़ में दो बच्चों की मौत हो गई, जबकि 30 से अधिक लोग घायल हो गए। हालांकि प्रशासन ने भीड़ में दबकर दोनों की मौत होने की बात कही है।

शाम में अर्घ्य देने के लिए भारी संख्या में लोग सूर्य कुंड के पास पहुंचे थे। लौटने के क्रम में चौरसिया नगर के समीप बिजली का तार गिरने की अफवाह फैल गई। इसके बाद लोग एक दूसरे को कुचलते हुए निकलने लगे।

0 0
0 %
Happy
100 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

अन्ना को एक और झटका,एनडीएमसी से भी अनुमति नहीं
दुर्बार के 7000 सेक्स वर्करों ने दिया गलोवल वार्मिंग का अनोखा संदेश
पेस्सा के तहत चुनाव: शिबू नार्मल लेकिन सुदेश और रघुवर अपने फेर मे
BRD मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में फिर हुई 72 घंटे में 46 बच्चों की मौत
रांची में गरजे राहुल गांधी- देश का चौकीदार चोर है
बोले काटजू- "सत्ता से बाहर होगी भाजपा, यूपी-बिहार में रहेगी नील"
विशेष श्रद्धांजलिः ...तब जहानाबाद में 12 किलोमीटर पैदल चले थे कुलदीप नैयर
अन्ना के अनशन को लेकर चिंतित है अमेरिका!
'PUBG' की लत से ग्रस्त युवा बन रहे हैं निकम्मा और अपराधी
शिबू सोरेन की गलतफहमी न.1 : झारखण्ड की ताजा बदहाली के लिये बिहारियो को दोषी ठहराया
एक पत्रकार ने खोली सोहराबुद्दीन केस की असलीयत, कांग्रेस वेनकाब
राफेल डील पर हाइड एंड सीक का खेल क्यों खेल रही मोदी सरकार : CJI
कांग्रेस,भाजपा को छोडिये: देश के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री दिल्ली में बैठकर प्याज छिलने के लिए है! ...
नीतीश जी का ब्लॉग:गुणगान करने लायक अभी कुछ नहीं.
खट्टर सरकार को हाई कोर्ट की कड़ी फटकार, कहा- राजनीतिक स्वार्थ में डूबी रही सरकार
कड़ी पुलिस व्यवस्था के बाबजूद पहुंच रहे अनशनकारियों का नजारा
सोनिया गांधी: एक करिश्माई नेतृत्व का सन्यास
एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की 'आपातकाल' की पृष्ठभूमि
बताईये: दोनों में कौन है क्रिकेटर युसूफ पठान?
आतंकियों का यूं शरणगाह बना है जमशेदपुर का यह इलाका !
रजरप्पा :झारखंडी मीडिया को मां छिन्न मस्तिका मंदिर परिसर का ये आलम दिखाई नहीं देता?
*एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क के कर्तव्य को अब आपके दायित्व की जरुरत.....✍🙏*
ये हैं चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और उन पर सवाल उठाने वाले 4 जज
नालंदा पुलिस को मिली आज कई कामयाबी, केवट गैंग का पर्दाफाश, शराब-हथियार समेत 15 धराये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter