फेसबुक पर जज मानवेन्द्र मिश्र यूं हुए व्यथित- ‘पुरुषार्थ का दंभ न भरे ऐसे समाज के लोग’

Share Button

वर्तमान सामाजिक परिस्थिति को देखकर कभी-कभी वो बचपन वो नासमझी का दौर ही ठीक लगता है, जब नवरात्रि दुर्गा मां के पूजन में मेला घूमने महावीरी झंडा देखने का आनन्द आता था।

आलेखकः नालंदा जिला बाल किशोर न्याय परिषद के प्रधान दंडाधिकारी जज मानवेन्द्र मिश्रा (बाल्य चित्र)

वर्तमान परिदृश्य में नवरात्रा पूजन में कुमारी कन्या का पूजन करना एवं भोजन कराना कितना प्रासंगिक रह गया है। क्या इस समाज को केवल नवरात्रि में ही कुमारी कन्या या स्त्री के महत्व का पता चल पाता है।

कहां गया उस कथन की प्रासंगिकता जो यह कहता है कि *यत्र नार्यस्तु पूज्यंते रमंते तत्र देवता*। क्या हो गया इस देश को। जो हर एक अवसरों पर सरस्वती, दुर्गा, लक्ष्मी मां का पूजन करते आ रहे हैं तो इन देवी स्वरूप व बच्चियों के साथ हो रहे यौन शोषण पर समाज मौन क्यों हैं।

बलात्कार…न यह शब्द नया है न यह कृत्य नया है बस हर बार बस पीड़िता नई होती है और पशुता लाँघने वाला मनुष्य नया होता है। हां लेकिन हर बार बलात्कार शब्द लिखते हुए कलम कांप उठती है।

मनुष्य के रूप में पशु बना व्यभिचारी तो हो सकता है कुछ सजा काटने के बाद समाज में कालांतर में स्वीकृत हो जाए, किंतु उस बच्ची स्त्री का क्या? जिसे पूरे जिंदगी इस कलंक के सहारे जीना है। वह भी मात्र इसलिए कि उसे भोग्या मानकर चंद्र दरिंदों ने अपना हवस का शिकार बनाया है।

आज यदि हम बलात्कार के आरोपों का वर्गीकरण करें तो इसमें केवल असामाजिक तत्व ही नहीं है, बल्कि तथाकथित संत मौलवी नेता लगभग सभी वर्गों से लोग हैं। इसलिए यह कह देना की यह अशिक्षित लोगों द्वारा, या अपराधी द्वारा किया जाता है। सही नहीं है।

यह एक सभ्यता मुल्क समस्या है। यह हमारी समाज के कोढ़ ग्रस्त हो जाने जैसा है। अमेरिकी लेखक रोबिन मार्ग ने 1974 में *थ्योरी एंड प्रैक्टिस पोर्नोग्राफी* में लिखा था कि पोर्नोग्राफी सिद्धांत की तरह काम करता है, जिससे व्यवहारिक रूप से बलात्कार के रूप में अंजाम दिया जाता है।

*फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन* ने आपराधिक आंकड़ों के विश्लेषण में पाया कि यौन हिंसा के 80% मामलों में वहां पोर्न की मौजूदगी थी।

यह सही है कि दुनिया की कोई सरकार पोर्न साहित्य और सिनेमा को बैन करने में पूर्णतः आधुनिक युग में सफल नहीं हो सकती। फिर भी एक प्रभावी कारी नियंत्रण स्थापित की जा सकती है।

प्रायः बलात्कार एकान्त में किया जाने वाला अपराध है। इसमें पीड़िता के अलावे अन्य किसी प्रत्यक्षदर्शियों का साक्ष्य मिलना मुश्किल है। अभी हाल के दिनों में नाबालिग के साथ गैंग रेप की घटनाओं में वृद्धि हुई है।

यह ग्राफ दर्शाता है कि हमारे समाज को अभी सर्जरी की आवश्यकता है। नहीं तो आप पॉक्सो या कोई भी कानून बना लीजिए। इस देश मे निर्भया जैसी घटनायें होती रहेगी।

हमे समाज के अंदर अन्तः करण को शुद्ध करना पड़ेगा। तभी हम सही में पुरुष कहलाने के लायक नही। जिस समाज मे स्त्री सुरक्षित नहीं, उस समाज के पुरुष अपने को मर्द कहने का दम्भ नही भर सकते। (साभारः फेसबुक वाल)

3 0
Happy
Happy
0.00 %
Sad
Sad
0.00 %
Excited
Excited
0.00 %
Sleppy
Sleppy
0.00 %
Angry
Angry
0.00 %
Surprise
Surprise
100.00 %
Share Button

Related News:

जिस पत्नी की हत्या के आरोप में पति काट रहा है जेल, वह दो साल बाद प्रेमी के साथ मिली !
अलगाववादी नेता यासीन मलिक और उसकी पार्टी पर बैन
जब गुलजार ने नालंदा की 'सांसद सुंदरी' तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म 'आंधी'
भाषा के सन्दर्भ में फड़नवीस की अनूठी पहल
बिहार के साहब के सामने लोग चिल्लाए- मुर्दाबाद, वापस जाओ!
बिहारी बाबू का फिर छलका दर्द ‘अब भाजपा में घुट रहा है दम’
पत्रकार वीरेन्द्र मंडल को सरायकेला SP ने यूं एक यक्ष प्रश्न बना डाला
हत्यारोपी BJP MLA संजीव सिंह की जेल में रोजाना सजते दरबार और लालू पर कसे शिकंजे को लेकर उठे सबाल
ममता की रैली में शामिल हुए भाजपा के 'शत्रु', पार्टी ने दिए कार्रवाई के संकेत
MLA अशोक सिंह हत्याकांड में  Ex. RJD MP प्रभुनाथ सिंह दोषी करार, गये जेल
हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!
सीएम नीतीश का विरोध, गाड़ी पर फेंकी स्याही, दिखाए काले झंडे
आयुष्मान योजना की सौगात के साथ पीएम मोदी ने कही ये खास बातें
नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भू...
रहिमन पानी राखिए, बिन पानी सब सून......
नालंदा पुलिस को मिली आज कई कामयाबी, केवट गैंग का पर्दाफाश, शराब-हथियार समेत 15 धराये
भाजपा से नाता तोड़ शिवसेना अकेले लड़ेगी 2019 का लोक-विधान सभा चुनाव
सेलरी नहीं मिलने से क्षुब्ध ड्राइवर ने 'इंडिया न्यूज' चैनल के मालिक को 'ठोंका' !
‘10-12-14 साल के बच्चों को मार कर पुलिस ने बताया था कुख्यात नक्सली’
राबड़ी-तेजस्वी को IRCTC केस में बेल, लालू रिम्स के कार्डियोलॉजी में एडमिट
भाजपा के 'शत्रु'हन सिन्हा का एलान- पटना साहिब से ही लड़ेगें चुनाव
नालंदा प्रशासन को बिहारशरीफ सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में हादसा या वारदात का इंतजार है?
शपथ ग्रहण से पहले किसान कर्जमाफी की तैयारी शुरू
सावधान! Google के जरिए यूं आई कपल की निर्वस्त्र संबंध बनाने की तस्वीरें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter