» समस्तीपुर से लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन   » दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन   » अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?   » हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार  

प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !

Share Button

“एक साधु अपनी नाबालिग बेटी को कामाख्या देवी के लिए बलि दे रहा था। तब पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था……..”

INR. असम में गुवाहाटी के मशहूर कामाख्‍या मंदिर में उस वक्त लोग दहशत में आ गए जब मंदिर के पास नीलांचल पहाड़ियों में एक महिला का सिर कटा हुआ शव मिला। कहा जा रहा है कि महिला की जादू टोने के चक्कर में नरबलि दी गई। पुलिस को शव के पास से पूजा की सामग्री भी बरामद हुई है।

बताया जा रहा है कि कामख्या मंदिर में शनिवार से सालाना अंबुबाची मेला शुरू होने वाला है। लेकिन इसके पहले ही महिला का सिर कटा शव मिलने से यहां दहशत का माहौल बन गया है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

गुवाहाटी के पुलिस कमिश्‍नर दीपक कुमार ने बताया कि, ‘शव दुर्गा मंदिर जाने वाले रास्ते पर मिला। मृत महिला की उम्र 45 साल के आसपास लग रही है। महिला के शरीर के पास पूजा सामग्री पाई गई है। जांच अभी की जा रही है।

जॉइंट कमिश्‍नर देबराज उपाध्‍याय का कहना है, ‘महिला के शरीर के पास पूजा सामग्री के अलावा खून के धब्‍बे मिले हैं। आरोपी को पकड़ने के लिए स्निफर डॉग्स की मदद ली जा रही है।

पोस्‍टमॉर्टम के बाद ही पता चल सकेगा कि महिला की हत्‍या मंदिर परिसर में हुई है या कहीं और उसकी हत्या करके शव को मंदिर परिसर में रखा गया।

वहीं, मंदिर के पुजारी नरबलि की बात से इन्कार कर रहे हैं। कामाख्‍या बारदेउरी समाज के सचिव भूपेश कुमार शर्मा का कहना है कि यह शरारती तत्‍वों की हरकत है। महिला की हत्या कहीं और करके माहौल बिगाड़ने के लिए शव को मंदिर में रखा गया है।

मालूम हो कि इसके पहले भी कामाख्‍या मंदिर में इस तरह की घटना सामने आ चुकी है। 2012 में मंदिर जाने वाले रास्‍ते पर एक पुरुष का कटा हुआ सिर मिला था। इसके बाद काफी तनाव की स्थिति बनी थी।

साल 2003 में स्‍थानीय लोगों ने एक साधु को नरबलि देते हुए रंगे हाथ पकड़ा था। वह अपनी नाबालिग बेटी को कामाख्या देवी के लिए बलि दे रहा था। उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

Share Button

Related News:

अपने ब्लॉग के रेस्पोंस से काफी उत्साहित हैं नीतीश कुमार
दलित राजनीति की सशक्त धारा को भुनाने की सफल प्रयास है ‘काला’
कांग्रेस ने मुझे फिल्मी "डॉन" बना दिया: मधु कोडा
कसाई कौन ? डॉक्टर या दैनिक भास्कर ?
कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी के होश ठिकाने, अन्ना से बोले सॉरी
झारखंड मे पेसा अधिनियम को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर उठ रहे सवाल : वेशक ये कानून अन्धा है?
पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या
ईको टूरिज्म स्पॉट बनकर उभरेगा घोड़ा कटोरा :सीएम नीतीश
झारखंडी मीडिया ने तो शहीदों की परिभाषा ही बदल दी
पीएम ने फिलीपींस में वैज्ञानिक अरविंद से धान की पैदावार को लेकर की लंबी चर्चा
चार साल में मोदी चले सिर्फ ढाई कोस
नीतीश जी का ब्लॉग:गुणगान करने लायक अभी कुछ नहीं.
हाय री राजनीति! हाय री मीडिया!!
हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!
राहुल के बयान से संघीय शासन व्यवस्था को खतरा: नीतिश
'आरक्षण' पर से मद्रास हाई कोर्ट ने हटाई रोक
मेरे वतन के लोगों...गीत सुनते ही राजघाट पर रो पड़े अन्ना
उग्रवादियो के खिलाफ गांव के स्कूली बच्चो ने उठाई आवाज़: कहा कि “अंकल माओवादी हमारे स्कूल क्यो उडाते ह...
बोले काटजू- "सत्ता से बाहर होगी भाजपा, यूपी-बिहार में रहेगी नील"
सरकार राजी, अब रामलीला मैदान में होगा अन्ना का अनशन
*एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क के कर्तव्य को अब आपके दायित्व की जरुरत.....✍🙏*
इस भाजपा सांसद ने दी ठोक डालने की धमकी, ऑडियो वायरल, पुलिस बनी पंगु
सुपारी टीवी पत्रकार हैं अर्नब गोस्वामी  :राहुल कंवल
सरकार हमारे खिलाफ एफआईआर दर्ज करेः अन्ना हजारे

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter