पुत्र संग PM भेंट बाद बोले उद्धव-  ‘NPR-CAA से डरने की जरूरत नहीं’

Share Button

महाराष्‍ट्र की गठबंधन सरकार में नेताओं के अलग अलग बयानबाजियों के बीच CM उद्धव ठाकरे ने PM नरेंद्र मोदी से मुलाकात के साथ ही सियासी सरगर्मी और बढ़ गई है…”

INR डेस्क. महाराष्ट्र में जारी सियासी तपिश के बीच राज्‍य के CM उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को PM नरेंद्र मोदी से मुलाकात की। मुलाकात के बाद अपने सहयोगी दलों कांग्रेस-एनसीपी को झटका देते हुए उन्‍होंने दो टूक कहा कि नागरिकता संशोधन कानून से किसी को डरने की जरूरत नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि सीएए पर मुसलमानों को डराया जा रहा है। पीएम मोदी के हवाले से उद्धव ने यह भी कहा कि एनआरसी असम के अलावा पूरे देश में कहीं लागू नहीं होने जा रहा है।

शिवसेना प्रमुख ने यह भी साफ कर दिया कि महाराष्ट्र में एनपीआर की प्रक्रिया को उनकी सरकार आगे बढ़ाएगी। उनका बयान इसलिए अहम है क्योंकि PM से मिलने के बाद उन्होंने कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात की।

वहां भी कांग्रेस के रुख के उलट उन्होंने एनपीआर पर आगे बढ़ने की बात कही। देखने की बात होगी कि यह मतभेद किस ओर जाता है।

CM बनने के बाद राजनीतिक संतुलन साधने के मकसद से पहली बार दिल्ली आए उद्धव ठाकरे का सबसे विवादित सियासी मुद्दे पर नजरिया शिवसेना-एनसीपी-कांग्रेस के गठबंधन में तनाव और बढ़ा सकता है।

उद्धव के रुख के उलट एनसीपी-कांग्रेस सीएए-एनआरसी का विरोध करने के साथ एनपीआर में एनआरसी से जुड़े सवालों को शामिल किए जाने की आशंका पर भी सवाल उठा रहे हैं। मगर ठाकरे ने अपने सहयोगी दलों की इन चिंताओं से इतर सीएए का समर्थन किया है।

मोदी से मुलाकात के बाद उद्धव ठाकरे ने पत्रकारों से कहा, ‘PM मोदी से सीएए-एनआरसी और एनपीआर को लेकर मेरी बातचीत हुई। इस बातचीत में बनी समझ के आधार पर मेरा मानना है कि सीएए को लेकर किसी को डरने की जरूरत नहीं है। यह कानून किसी को देश से निकालने का कानून नहीं है और न ही किसी को निकाला जाएगा।‘

यह सही है कि पड़ोसी देशों में उत्पीड़न के शिकार जो नागरिक हैं वे हिन्दू हैं और सीएए उन्हीं को नागरिकता देने का कानून है।

उद्धव ने बताया कि पीएम ने कहा कि पूरे देश में एनआरसी नहीं होने जा रहा है। केवल असम में एनआरसी है और इसकी वजह सबको मालूम है। एनपीआर लागू करने पर कांग्रेस-एनसीपी के एतराज से जुड़े सवाल पर CM ने कहा कि हर दस साल में जनगणना होती है और एनपीआर इसका हिस्सा है। एनपीआर किसी को घर से बाहर निकालने के लिए नहीं है।

हालांकि सहयोगी दलों की चिंता के मद्देनजर उद्धव ने यह जरूर कहा कि यदि एनपीआर में खतरनाक पहलू सामने आएंगे तो फिर विवाद हो सकता है और तब वे इसे देखेंगे।

सीएए-एनआरसी-एनपीआर पर उनका यह रुख कांग्रेस-एनसीपी से मेल नहीं खा रहा तो क्या गठबंधन में समस्या नहीं आएगी? इस सवाल पर उद्धव ने कहा कि वे अपनी समझ के हिसाब से बात कह रहे कि हमारे किसी भी नागरिक का अधिकार नहीं जाएगा। सीएए पर मुसलमानों को डरने की जरूरत नहीं है और एनआरसी नहीं होने जा रहा है। जब ऐसी बात नहीं है तो फिर सीएए विरोधी आंदोलन क्यों हो रहा है…?

शिवसेना नेता ने कहा कि जिन लोगों ने आंदोलन भड़काया है उन्हें यह समझने की जरूरत है। आंदोलन किन लोगों ने भड़काया है? इस सवाल को उद्धव ने यह कहते हुए टाल दिया कि वे दिल्ली में नहीं रहते।

सहयोगी दलों से इस मसले पर खींचतान को नकारते हुए उद्धव ने कहा कि गठबंधन में कोई दिक्कत नहीं है। साझा न्यूनतम कार्यक्रम पर सरकार आगे बढ़ रही है और उनकी सरकार बिल्कुल पांच साल चलेगी।

Share Button

Related News:

पटना साहिब सीटः एक अनार सौ बीमार, लेकिन...
बिहारः छठ के दौरान डूबने से 60 से अधिक लोगों की मौत
देश के इन 112 विभूतियों को मिले हैं पद्म पुरस्कार
ओरमांझी की मनोरम प्रकृति और पर्यावरण को यूँ नष्ट कर रहे हैं पत्थर माफिया
महाराष्ट्र विधानसभा में कसाब को फांसी देने की मांग को लेकर विपक्ष का हंगामा
झारखण्ड मे पटना पुलिस हत्याकांड : खुलेगे कई राज
शिबू सोरेन ने कांग्रेस को नकारा,भाजपा के साथ सरकार बनाने के स्पष्ट संकेत दिया
दैनिक रांची एक्सप्रेस की यह कैसी चाटूकारिता?
प्रो. सुनैना सिंह ने संभाला नालंदा विश्वविद्यालय की कुलपति का पदभार
भारत के 47वें CJI बने जस्टिस शरद अरविंद बोबडे
इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरे...
कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली में राहुल गांधी का मोदी पर आक्रामक हमला
अब यूपी के फर्रुखाबाद के डॉ. लोहिया अस्पताल में 49 बच्चों की मौत !
आतंकियों का यूं शरणगाह बना है जमशेदपुर का यह इलाका !
न.1 दैनिक जागरण के 2न. संवाददाता
अन्ना हजारे को जबरन उठा सकती है पुलिसः अरविंद केजरीवाल
नालंदा प्रशासन को बिहारशरीफ सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में हादसा या वारदात का इंतजार है?
जंतर मंतर पर अब कैसे करेंगे अनशन अन्ना
देश एक बार फिर आपातकाल की ओर.......
अंग्रेजों के भी बाप निकले हमारे आजाद देश के नेता
गैंगरेप के आरोपी BJP विधायक एवं उनके बेटों-भतीजों पर FIR
विकास(राँची)-बरही(हजारीबाग) एन.एच.-३३ फोलेनिंग में भारी अनियामियता व गबन-घोटाले की आशंका
हाइपोथर्मियाः कोटा, बीकानेर एवं राजकोट में अब तक 500 से उपर बच्चों की मौत
सरकारी आकड़ों में जानिए अपना बिहार, परखिए यहां सुशासन-विकास का हाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
error: Content is protected ! india news reporter