» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

पिकनिक स्पॉटों में अव्यवस्था से सैलानी मायूस

Share Button

INR. नया साल आ रहा है। प्रकृति की गोद में बसे लौहनगरी जमशेदपुर में हर साल लाखों सैलानी जमशेदपुर के अलावे बिहार, बंगाल और झारखंड के दूसरे हिस्सों से यहां पहुंचते है।

यहां डिमना लेक, जुबिली पार्ड, हुडको डैम, चांडिल डैम, थीम पार्क, जादूगोड़ा आदि पिकनिक स्पॉटों पर सैलानी नए साल का जश्न मनाने पहुंचते है।

वैसे सैलानियों का आना शुरू भी हो चुका है, लेकिन इन पिकनिक स्पॉटों पर असुविधा से सैलानी मायूस नजर आने लगे हैं। इन पिकनिक स्पॉटों पर न शौचालय है, और ना ही पीने का पानी, जिसके कारण पर्यटक काफी परेशान नजर आ रहे हैं।

सबसे ज्यादा परेशानी महिला पर्यटकों को हो रही है, जबकि जमशेदपुर उपायुक्त दावा करते हैं कि पिकनिक स्पॉटों पर शौचालय और पानी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।

लेकिन जमशेदपुर के एक भी पिकनिक स्पॉट पर न शौचालय है, और ना ही पानी का टैंकर। लोग बाहर से पानी खरीदकर पी रहे हैं।

इतना ही नहीं इस कड़ाके की ठंड में सर छुपाने के लिए रैन बसेरा भी नहीं खुला है। जबकि जिला प्रशासन को करोड़ों रुपए के राजस्व की वसूली पर्यटको की ओर से हो रही है। उसके बावजूद भी सारी व्यवस्थाएं कागज पर दिख रही है।

वहीं जमशेदपुर एसएसपी ने भी शहर पहुंचनेवाले सैलानियों को पूरी सुरक्षा मुहैया कराने का दावा किया था, लेकिन शहर के पिकनिक स्पॉटों पर सुरक्षा के भी इंतजामात नहीं के बराबर हैं। ऐसे में सैलानियों का चिंतित होना लाजिमी है।

Share Button

Related News:

राजगृह के वैभारगिरी पहाड़ी पर हुई थी बौद्ध ग्रंथ त्रिपिटक की पहली संगीति
कुख्यात नक्सली के सरेंडर मामले में रघुबर सरकार की मुश्किलें बढ़ी, HC के बाद PMO ने लिया कड़ा संज्ञान
आयुष्मान योजना की सौगात के साथ पीएम मोदी ने कही ये खास बातें
JUJ के पत्रकारों को सुरक्षा और न्याय के संदर्भ में झारखंड DGP ने दिये कई टिप्स
यहां तो गूंगे बहरे बसते है, खुदा जाने कहां जलसा हुआ होगा ?
रांची होटवार जेल बना पुलिस छावनी, काफी आक्रोश में हैं बिहार-झारखंड के राजद नेता
कुख्यात नक्सली कुदंन पाहन की फांसी की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे विकास मुंडा, कहा- सरेंडर की हो ...
चीन की दीवार से भी पुराना है राजगीर का यह सायक्लोपियन वाल
बीजेपी दफ्तर को बम उड़ाया, पीएम मोदी की मेढ़क से तुलना, नीतीश पर भी प्रहार
खूंटी के इस गर्त में जाने की हैैं कई वजहें
टाटा जू को कहीं अन्यत्र शिफ्ट करने के आदेश
अजातशत्रु स्तूपा को लेकर भारतीय पुरातत्व विभाग बना अंधा, छेड़छाड़ जारी
आईना देख बौखलाये भाजपाई, वरिष्ठ पत्रकार कृष्ण बिहारी मिश्र पर किया थाना में मुकदमा
भारत दर्शन का केंद्र है राजगीर मलमास मेला
कोडरमा घाटी से महिला का शव मिला, दुष्कर्म कर हत्या की आशंका
राहुल गांधी का सचित्र ट्वीट- 'मानसरोवर के पानी में नहीं है नफरत’
माउंट एवरेस्ट पर 10 हजार किलो से अधिक इकट्ठा हुआ कूड़ा
कल CM,PMO,DGP,DIG,SSP,CSP को भेजा ईमेल, आज सुबह पेड़ से यूं लटकता मिला उसका शव  
रांची के रिम्स में लालू से मिलकर यूं गरजे बिहारी बाबू- ‘खामोश’
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
जयरामपेशों का अड्डा बना आयडा पार्क
कुख्यात नक्सली कुंदन पाहन के सरेंडर पर हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान, प्रजेंटेशन देने का आदेश
नक्सलियों ने फूंका डुमरी बिहार रेलवे स्टेशन, मालगाड़ी इंजन में लगाई आग,स्टेशन मास्टर-ड्राइवर के वॉकी...
इस 'नाग-फांस' से मुक्ति कैसे पाएंगे झारखंड के डीजीपी!

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter