दो साल से खामोश है मुहब्बत की निशानी ‘ताजमहल’ का ट्विटर हैंडल

Share Button

सिर्फ़ इशारों से होती मोहब्बत

तो इन अल्फाजों को खुबसूरती कौन देता,

बस इक पत्थर बनकर रह जाता ताजमहल

अगर इश्क इसे अपनी पहचान न देता…”

INR.(जयप्रकाश नवीन)। आगरा के ताजमहल को दुनिया भर में मोहब्बत की एक जिंदा अलामत के तौर पर देखा जाता है। सारी दुनिया के आशिकों के दिल इस इमारत से मोहब्बत के इसी रिश्ते से जुड़े हुए हैं।

हजारों मजदूरों की मेहनत, कलाकारों की चित्रकारी, सफेद संगमरमर, बहुमूल्य रत्नों से सुसज्जित ताजमहल कभी अतिभावन लगता था। समय के साथ ताजमहल उपेक्षा का शिकार बनता चला जा रहा है। लेकिन मोहब्बत की निशानी ताजमहल एक बार फिर से चर्चा में है।उसकी भव्यता फिर से तराशी गई है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर है। लेकिन कहा जाता है कि अगर ‘ताज’ का दीदार नहीं हुआ तो फिर भारत दौरा बेकार है। राष्ट्रपति अपने सपरिवार ताजमहल को देखने पहुँचे।ताजमहल की सौंदर्यता देखकर राष्ट्रपति भी अंचभित दिखे।

दुनिया में सात अजूबो में शामिल ताजमहल का ‘ट्विटर अकाउंट’ पिछले दो साल से खामोश है। इसे यूपी में सत्ता परिवर्तन का असर कहें या फिर प्रशासनिक लापरवाही।

उतर प्रदेश में जब अखिलेश यादव की सरकार थी, तब उन्होंने दुनिया भर से ताज का दीदार करने वाले सैलानियों से सीधे संवाद के लिए अगस्त, 2015 में ताजमहल का आधिकारिक ट्विटर अकाउंट की शुरुआत की थी।

यूपी टूरिज्म के मुताबिक उस समय ताजमहल दुनिया का पहला ऐसा ऐतिहासिक स्मारक था, जिसका अपना खुद का ट्विटर हैंडल बना था। यूपी टूरिज्म की ओर से बताया गया था कि इस ट्विटर से ‘ताज’ को और लोकप्रिय बनाने में मदद मिलेंगी।बाद में ताजमहल को देखकर ही अन्य अजूबो के ट्विटर बनाए गए।

कहा जाता है कि ट्विटर अकाउंट बनने के बाद ताजमहल की ओर से बेहद रोचक ट्विट भी आया था, जिसमें लिखा गया “दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं।एक वे जो मेरे पास आएं हैं, और जो मुझे यहां फॉलो कर रहे हैं। दूसरे वे जिन्होंने मुझे देखा नहीं हैं, लेकिन यहाँ मुझे फॉलो कर रहे हैं।”

परिचय में भी ताजमहल ने लिखा था, “दुनिया की सबसे ज्यादा प्यार की जाने वाली इमारत जो आगरा में है। विश्व के अजूबो में एक है।”

लेकिन जबसे यूपी में सरकार बदला ताजमहल का यह ट्विटर अकाउंट उपेक्षा का शिकार बन गया। देखा जाए तो ताजमहल के बाद बने अन्य स्मारकों जैसे फ्रांस का एफिल टावर, अमेरिका का स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी आदि अकाउंट आज भी सक्रिय है। जो लगातार सैलानियों के साथ फोटो ,ट्विट शेयर करते रहते है।

लेकिन ताजमहल खामोश हो गया। जबसे सरकार बदली तब से ताजमहल के ट्विटर अकाउंट से कोई ट्वीट या रीट्विट नहीं हुआ। यूपी के ही एक सामाजिक कार्यकर्ता ने जन सुनवाई पोर्टल पर इसकी शिकायत की।

लगभग छह महीने की खामोशी के बाद ट्विटर अकाउंट सक्रिय तो हुआ।लेकिन यह सक्रियता कुछ ही दिन के लिए रही। 19 फरवरी, 2018 से ताजमहल का ट्विटर अकाउंट खामोश है।

आगरा का ताजमहल और फ्रांस का एफिल टावर दोनों एक दूसरे को फॉलो करते थे। सक्रिय नहीं रहने के कारण फॉलोवर्स के मामले में कभी आगे रहने वाला ताजमहल आज एफिल टावर से काफी पीछे छूट गया है।

ताजमहल के ट्विटर हैंडल को एक लाख 78 हजार तथा एफिल टावर को अभी तीन लाख 22हजार लोग फॉलो करते हैं।

ताजमहल ट्विटर हैंडल पर्यटकों के ट्वीट और रिट्विट कर उनकी यादों को दुनिया के साथ साझा करते थे। साथ ही उन पर्यटकों को भी आमंत्रित करते थे, जो उसके दीदार के लिए अब तक नहीं आ सके थे। इसके लिए ताजमहल और ट्विटर इंडिया ने मिलकर एक अभियान भी चलाया था। जिसमें पर्यटकों की संख्या बढ़ी थी।

Share Button

Related News:

अन्ना हजारे की मांगे सही नहीं हैः अरूंधती रॉय
भ्रष्टाचार का हो-हल्ला मचाने वालो पर भारी पडे भ्रष्टाचारी
रांची के दैनिक सन्मार्ग ने दिया मानवता का परिचय
सनातन धर्मावलंबियों की सुसभ्य संस्कृति वाहक है मंदार पर्वत
लंदन में दंगा जारी, अब तक 500 युवक गिरफ्तार
हाय री झारखण्डी राजनीति! हाय री झारखण्डी मीडिया!!
अर्जुन मुंडा यानि अंधेर नगरी का चौपट राजा
गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद
सुबोधकांत बनेंगे मुख्यमंत्री!
शत्रु संपत्ति कानून संशोधन विधेयक 2017 को संसद की मंजूरी
झारखंड के सीएम ने गुहार को लगाई अभद्र फटकार
जयंती विशेषः एफर्टलेस एक्टिंग के सरताज संजीव कुमार
नक्सलियो के लिये शर्म है गांव के इन स्कूली बच्चो की चीख
मेरी सरकार को प्रमाण-पत्र देने से पहले राहुल बताये कि वे बिहार के विकास के लिए वे क्या कर रहे: नीतीश...
बीजेपी दफ्तर को बम उड़ाया, पीएम मोदी की मेढ़क से तुलना, नीतीश पर भी प्रहार
चर्चा रांची के दैनिक सन्मार्ग मानवता की
मगध सम्राट जरासंध की अतीत संवर्धन के लिए होगा आंदोलन
बाल-राज ठाकरे देशद्रोही दिमाग वाले : नीतीश कुमार
अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?
सामना अखबार और शिबसेना-मनसे पर तत्काल प्रतिबंध लगे
एयरटेल,वोडाफोन,आयडिया ग्राहकों ने जियो पर मारे 13,500 करोड़ के मिस्ड कॉल
नीतीश-जदयू से जुड़े ‘आम्रपाली घोटाले’ के तार, धोनी को भी लग चुका है चूना
ट्रक से टकराई महारानी बस, 9 की मौत, 25 घायल, हादसे की दर्दनाक तस्वीरें
झारखण्ड : "प्रभात ख़बर औए ३६५ दिन में सौतन-डाह"

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
error: Content is protected ! india news reporter