» ‘राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से SDO-DSP हटायेगें अतिक्रमण और DM-SP करेंगे मॉनेटरिंग’   » नालोशिप्रा का राजगीर सीओ को अंतिम आदेश, मलमास मेला सैरात भूमि को 3 सप्ताह में कराएं अतिक्रमण मुक्त   » नालंदा जिप अध्यक्षा के मनरेगा योजना के निरीक्षण के दौरान मुखिया सब लगे गिड़गिड़ाने, पूर्व विधायक लगे दबाने   » राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से हर हाल में हटेगा अतिक्रमण, प्रशासन सक्रिय   » JUJ के पत्रकारों को सुरक्षा और न्याय के संदर्भ में झारखंड DGP ने दिये कई टिप्स   » हदः रांची के एक अखबार के रिपोर्टर की हत्या कर उसके घर में यूं टांग दिया   » नालंदा लोशिनिप संजीव सिन्हा ने कहाः रेकर्ड सुरक्षित होगें, अगली तिथि जल्द, न्याय होगा   » रिटायर्ड सिपाही का बेटा लेफ्टिनेंट बन नगरनौसा का नाम किया रौशन   » नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि का   » महागठबंधन की सरकार में महादलितों पर अत्याचार बढ़ाः जीतनराम मांझी  

दुनिया के यह सबसे अमीर शख्स रखता है ओल्ड फ्लिप फोन !

Share Button

दुनिया के सबसे सफलतम निवेशकों में से एक माने जाने वाले वारेन बफेट ने मात्र 13 साल की उम्र में ही अपना पहला टैक्स रिटर्न दाखिल कर दिया था। इस उम्र में ही उनके पास खुद का अपना बिजनेस था। आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया का दूसरा अमीर शख्स जिसके पास 75.6 बिलियन अमेरिकी डॉलर की संपत्ति हो और वो एप्पल जैसी दिग्गज कंपनी में 2.5 फीसद की शेयर होल्डिंग, उसके पास न तो आईफोन है और न ही स्मार्टफोन। हम अपनी इस खबर के माध्यम से वारेन बफेट के बारे में ऐसी ही कुछ दिलचस्प बातें बताने की कोशिश करेंगे।

न आईफोन और न स्मार्टफोन

बर्कशायर हैथवे कंपनी के चेयरमैन वारेन बफेट जिन्हें स्टॉक मार्केट में अपनी सफलतम कहानी के कारण ओरेकल ऑफ ओमाहा कहा जाता है। हालांकि बफेट की कंपनी एप्पल में शेयर हिस्सेदारी रखती है लेकिन वो आईफोन का इस्तेमाल नहीं करते हैं, यहां तक कि वो स्मार्टफोन का भी इस्तेमाल नहीं करते हैं। उनसे पास अब भी उनका पुराना ओल्ड फ्लिप फोन है। उन्होंने साल 2013 के दौरान एक इंटरव्यू में बताया था कि मैं ऐसी किसी भी चीज को तब तक नहीं फेकता जब तक मैने उसका 20 से 25 साल तक इस्तेमाल न किया हो।

उन्होंने उस इंटरव्यू में अपना नोकिया फ्लिप फोन दिखाते हुए कहा था, “यह वो है जिसे एलेक्जेंडर ग्राहम बेल ने मुझे दिया था।” लंबे समय तक चीजों से चिपके रहने की उनकी आदत उनके बाजार ज्ञान से जुड़ी हुई है जो कहता है कि अगर आप किसी शेयर को 10 साल तक रखने के लिए तैयार नहीं हैं तो इसे न खरीदें।

पूरी जिंदगी में भेजा सिर्फ एक ई-मेल

वारेन बफेट की कहानी कई मायनों में दिलचस्प है। उनके बारे में कहा जाता है कि वो ई-मेल का इस्तेमाल भी नहीं करते हैं। उन्होंने अब तक सिर्फ एक ई-मेल ही भेजा है।

इसके लिए कई लोग उन्हें लडाइट (इंडस्ट्रिअलाइजेशन और नई तकनीक का विरोध करने वाला) भी कहते हैं। ये ऐसे लोग होते हैं जिन्हें तकनीक के प्रति अजीब सा डर होता है। लेकिन बफेट अपने उसूलों पर जीने वाले इंसान कहे जाते हैं।

आज भी रहते हैं पुराने घर में

बफेट आज भी अपने पुराने घर में रहते हैं। बफेट तीन बेडरूम वाले उस छोटे से घर में रहते हैं जिसे उन्होंने साल 1958 में 31,500 अमेरिकी डॉलर में खरीदा था।

यानी साफ है कि वो सादा जीवन उच्च विचार वाले सिद्धांतों पर जीने वाले इंसान हैं।

काफी साल चलाते रहे पुरानी कार

बफेट काफी सालों तक पुरानी कार चलाते रहे। साल 2014 तक बफेट ने आठ साल पुरानी कैडिलेक कार चलाई। बफेट ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि मैं साल में सिर्फ 3,500 मील तक गाड़ी चलाता हूं, तो ऐसे में मैं नई कार कभी-कभी ही खरीदूंगा।

बफेट ने साल 2006 में अपनी 2006 डीटीएस (2006 DTS) को बदलकर साल 2014 में ब्रैंड न्यू कैडेलिक एक्सटीएस खरीदी थी। उनके पास प्राइवेट जेट भी है लेकिन वो इसका इस्तेमाल कुछ खास मीटिंग में पहुंचने के लिए ही करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

X

Pin It on Pinterest

X
error: Content is protected ! india news reporter