दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड ले बोले अमिताभ- अभी बाकी है काम

Share Button

“अमिताभ पिछले दिनों बीमार थे। इसलिए वे तब पुरस्कार समारोह में शिरकत नहीं कर पाए थे। उन्होंने अपनी नासाज तबीयत की जानकारी ट्विटर पर दी थी। उन्होंने लिखा था, बुखार है। सफर करने की इजाजत नहीं है। कल दिल्ली में राष्ट्रीय पुरस्कार में शिरकत नहीं कर पाऊंगा। बेहद दुर्भाग्यपूर्ण। मुझे अफसोस है………”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर न्यूज। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को रविवार को फिल्मों के सबसे बड़े सम्मान दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अमिताभ को यह सम्मान प्रदान किया।

अमिताभ ने कहा कि ‘जब इस पुरस्कार के लिए मेरे नाम की घोषणा हुई तो मेरे मन में सवाल आया कि क्या यह संकेत है कि भाई साहब आपने बहुत काम कर लिया है, अब घर बैठ के आराम कीजिए। पर अभी भी कई काम बाकी है, जिसे मुझे पूरा करना है।

उन्होंने कहा कि यह संयोग है कि यह सम्मान 50 सालों से दिया जा रहा है और उतने ही समय से मैं फिल्मों में काम कर रहा हूं’।

उन्होंने कहा, ‘ईश्वर की मुझ पर कृपा रही है। माता-पिता का आशीर्वाद, फिल्म निर्माता और फिल्म जगत के साथी कलाकारों का सहयोग मिला है, लेकिन मैं प्रशंसकों से लगातार मिले प्यार और प्रोत्साहन का हूं। यही वजह से मैं यह खड़ा हूं’।

सिने स्टार अमिताभ बच्चन पिछले पांच दशकों से अपनी नायाब अदाकारी के बूते बॉलीवुड पर धाक जमाए हुए हैं। वे जल्द ‘गुलाबो सिताबो’, ‘चेहरे’, ‘झुंड’ और ‘ब्रह्मास्त्र’ फिल्म में नजर आएंगे। अभिनेता को रविवार को दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया।

तब बने एंग्री यंग मैन 1942 में जन्मे अमिताभ को पहली फिल्म ‘सात हिंदुस्तानी’ से सफलता नहीं मिली थी। 1973 में प्रकाश मेहरा की एक्शन फिल्म ‘जंजीर’ से सफलता का स्वाद चखा। इसने उन्हें ‘एंग्री यंग मैन’ के रूप में स्थापित किया।

उन्होंने फिल्म शोले, दीवार, सत्ते पे सत्ता, मर्द, कुली, शराबी, डॉन, जंजीर, नमक हलाल, शहंशाह, कभी-कभी, सिलसिला, अग्निपथ, अमर अकबर एंथनी, लावारिस, मुकद्दर का सिकंदर, ब्लैक आदि से नई पहचान बनाई।

यहां उनका मजाकिया अंदाज भी देखने को मिला, जिसने समारोह में मौजूद लोगों को खूब गुदगुदाया। उन्होंने कहा था कि इस पुरस्कार के लिए चुने जाने पर उन्हें लगा था कि यह ‘अब बस घर बैठो’ का इशारा है।

अमिताभ पुरस्कार समारोह में काले रंग के बंद गला सूट में पहुंचे। वे अपने चिर-परिचित अंदाज में राष्ट्रपति भवन में मौजूद अतिथिगण का दोनों हाथ जोड़कर अभिवादन करते दिखे।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

शिक्षा को संभालने में नीतिश सबसे असफल सीएम
कर्नाटक के सीएम येदुरप्पा अवैध खनन मामले में 1800 करोड़ रु.के घोटाले के दोषी करार, फिर भी पद नहीं छो...
कुंदन पाहन ने चौंकाया, नेपाली PM प्रचंड ने झारखंड में ली थी नक्सली ट्रेनिंग!
अंधेर नगरी चौपट राजा यानि नक्सली मुख्यमंत्री शिबू सोरेन
बिहार के सभी आंचलिक पत्रकारों की है यही राम कहानी
अन्ना को अब भ्रष्ट केन्द्र सरकार की बलि चाहिए
यहां टेंडर मैनेज कराने वाले सीएम क्या रोकेगें भ्रष्टाचार : बाबू लाल मरांडी
झारखंड विधानसभा चुनाव:रांची जिला, हटिया क्षेत्र के उम्मीदवारो को मिले मत
गोविन्दाचार्य ने सुप्रीम कोर्ट से की रोहिंग्या शरणार्थियों को भारत से बाहर करने की मांग
रजरप्पा :झारखंडी मीडिया को मां छिन्न मस्तिका मंदिर परिसर का ये आलम दिखाई नहीं देता?
365दिन चैनल के प्रमुख के अमर्यादित वयान को लेकर पलामू चेम्बर औफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज के सचिव ने इस्...
JUJ के पत्रकारों को सुरक्षा और न्याय के संदर्भ में झारखंड DGP ने दिये कई टिप्स
नीतिश के बिहार एनडीए के चेहरे होने पर भाजपा में 'रार'
कसाई कौन ? डॉक्टर या दैनिक भास्कर ?
तेजस्वी का बड़ा ट्वीटः बिहार में अमित शाह देते थे घूस, सुशील मोदी की विडियो से खुलासा
डॉ. जायसवाल की ताजपोशी कहीं सुशील मोदी की काट तो नहीं!
झाविमो के विधायक के झारखंड विधानसभा के अन्दर इस तीखे वयान पर सब चुप क्यो?
अमर सिंह के साथ पूछताछ अन्याय : मुलायम
चकला गाँव को गोद लेने का ढोंग रचकर एक एन.जी.ओ.के सहारे ठगी का धंधा किया एच.डी.एफ.सी.बैंक ने!
अर्जुन मुंडा:झारखंडी राजनीति में बलि का नया बकरा
झारखंड की बदहाली कांग्रेस की गलत नीतियो की देन : नीतिश
आखिर खुद कायदा-क़ानून तोड़कर यह कैसा सन्देश देना चाहते हैं बिहार के " सुशासन बाबू" यानी मुख्यमंत्री नी...
ताबडतोड फैसले ले रहे है झारखण्ड के राज्यपाल
मातम पोसी हेतु नालंदा के महमदपुर पहुंचे मांझी, दिया न्याय का आश्वासन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter