तीन तलाक और अनुच्छेद 370 के बाद एक चुनाव कराने की तैयारी

Share Button

लेकिन, सबसे बड़ी बाधा यह है कि यदि अविश्वास प्रस्ताव आता है तो उस दशा में क्या होगा। क्योंकि सदन का कार्यकाल फिक्स हो जाने के बाद चुनाव पांच वर्ष बाद ही होंगे………….”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और तीन तलाक प्रथा को कानून बनाकर समाप्त करने के बाद मोदी सरकार का फोकस अब देश में विधानसभा और लोकसभा के चुनाव एक साथ कराने पर है। सरकार ने इसके लिए कवायद शुरू कर दी है और कानूनों में संशोधन करने की तैयारी की जा रही है।

लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एक साथ कराने के लिए संविधान के अनुच्छेद 172 और जनप्रतिनिधित्व कानून, 1951 की धारा 14 में संशोधन करना होगा। अनुच्छेद 172 विधानसभाओं के कार्यकाल से संबंधित है।

वहीं, जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 14 में संसद के चुनावों के लेकर है, जिसमें कहा गया है कि चुनाव की प्रक्रिया सदन के कार्यकाल खत्म होने से पहले पूरी कर ली जाए।

इन प्रावधानों को संशोधन करने के लिए संविधान में बदलाव करना पड़ेगा और दोनों सदनों में सरकार के बहुमत को देखते हुए इसमें कोई दिक्कत भी नहीं है। संविधान संशोधन को दोनों सदनों में दो तिहाई बहुमत से पारित करवाना होता है।

इसके बाद इसे 50 फीसदी विधान सभाओं की मंजूरी मिलनी आवश्यक है। 19 राज्यों में भाजपा की सरकारें हैं। इन दो संशोधनों के बाद भी काम नहीं चलेगा। इसके बाद विधानसभा और लोकसभा के कार्य संचालन नियमों में संशोधन करना होगा।

सबसे बड़ी बाधा यह है कि यदि अविश्वास प्रस्ताव आता है तो उस दशा में क्या होगा। क्योंकि सदन का कार्यकाल फिक्स हो जाने के बाद चुनाव पांच वर्ष बाद ही होंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को लालकिले से दिए अपने भाषण में इस बात पर जोर दिया था कि हमें एक देश एक चुनाव के बारे में सोचना होगा जिससे आए दिन होने वाले चुनावों से बचा जा सके।

प्रधानमंत्री के इस आह्वान के बाद इस बारे में गंभीरता से काम शुरू करने का फैसला किया गया है।

एक साथ चुनाव के लिए आयोग भी तैयार है। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा, इसके लिए विधानसभाओं और लोकसभा के कार्यकाल का सामन्जस्य करना होगा।

नीति आयोग ने एक साथ चुनाव कराने के पर एक 2017 में एक अध्ययन किया था आर पाया था कि एक साथ चुनाव कराने से सरकार के संसाधनों और पैसे की भारी बचत हो सकती है।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

महाराष्ट्र: शिवसेना के नेतृत्व में यूं सरकार बननी तय
कानून बनाओ या अध्यादेश लाओ, राममंदिर जल्द बनाओ : उद्धव ठाकरे
एक सफल फैशन डिजाइनर बनने के पहले इस तरह करें खुद को तैयार
प्रेमी संग राजगीर घुमने गई नाबालिग से गैंगरेप के प्रयास का वीडियो वायरल
प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !
'शत्रु'हन की 36 साल की भाजपाई पारी खत्म, अब कांग्रेस से बोलेंगे खामोश
नालोशिप्रा का राजगीर सीओ को अंतिम आदेश, मलमास मेला सैरात भूमि को 3 सप्ताह में कराएं अतिक्रमण मुक्त
कुख्यात नक्सली कुदंन पाहन की फांसी की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे विकास मुंडा, कहा- सरेंडर की हो ...
प्रियंका की इंट्री से सपा-बसपा की यूं बढ़ी मुश्किलें
रांची प्रेस क्लब या द रांची प्रेस क्लब के निबंधन में ही है गड़बड़झाला
देखिए दर्दनाक हादसा का शर्मनाक वीडियो! यही है डिजीटल इंडिया?
पेट्रोल पंप डीलर्स पर दबाव, मोदी की तस्वीर लगाओ अन्यथा तेल आपूर्ति बंद
सड़ गई है हमारी जाति व्यवस्था
एक दशक बाद सलमान खान का ब्रिटेन में द-बंग टूर
सुप्रीम कोर्ट ने कहा- 'आरे' पर मत चलाओ 'आरी', वेशर्म सरकार बोली- हमने काट लिए पेड़
नालंदा पुलिस को मिली बड़ी सफलता- पैक्स गोदाम से शराब की बड़ी खेप बरामद , फ्रीज से ढोयी जा रही थी शरा...
आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां
बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम
गुजरात मॉडलः एक्जाम में सभी 199 जज और 1372 वकील फेल, रिजल्ट शून्य!
ममता बनर्जी ने शुरु की 'भाजपा भारत छोड़ो आंदोलन'
राजगीर थाना में बैठ पहले रांची फोन कर दी धमकी, फिर किया राज़नामा के संपादक पर फर्जी केस, थाना प्रभार...
बिहारः यहां माता सीता ने की थी प्रथम छठ व्रत, मंदिर में मौजूद आज भी उनके चरण !
यह है दुनिया का सबसे अमीर गांव, इसके सामने हाईटेक टॉउन भी फेल
नालंदा के एसपी के इस आदेश की हर तरफ-हर कोई उड़ा रहा है सरेआम धज्जियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter