‘टाइम’ ने मोदी को ‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’ के साथ ‘द रिफॉर्मर’ भी बताया

Share Button

“पत्रिका के अंदर ‘‘क्या विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र मोदी सरकार के पांच साल और झेल सकता है?’’ शीर्षक के तहत एक लेख छपा है जिसे तासीर ने लिखा है…..”

INR. देश में लोकसभा चुनाव के अंतिम पड़ाव पर पहुंचने के बीच ‘टाइम’ पत्रिका ने अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ एक विवादास्पद शीर्षक छापा है, लेकिन इसके नीचे ही एक अन्य शीर्षक में मोदी की प्रशंसा की गई है।

अमेरिकी पत्रिका ने 20 मई 2019 के यूरोप, पश्चिम एशिया एवं अफ्रीका, एशिया और दक्षिण प्रशांत के अपने अंतरराष्ट्रीय संस्करण के कवर पर मोदी की तस्वीर के साथ शीर्षक दिया है ‘‘इंडियाज डिवाइडर इन चीफ’’।

इस लेख को आतिश तासीर ने लिखा है जो भारतीय पत्रकार तवलीन सिंह और दिवंगत पाकिस्तानी नेता एवं कारोबारी सलमान तासीर के बेटे हैं। इस शीर्षक के नीचे एक अन्य शीर्षक दिया गया है : ‘‘मोदी द रिफॉर्मर’’ (सुधारक मोदी) ।

पत्रिका में यह भी कहा गया है कि विपक्षी कांग्रेस के पास वंशवाद के सिद्धांत के अलावा और कुछ देने को नहीं है। ‘‘मोदी द रिफॉर्मर’’ (सुधारक मोदी) लेख ‘यूरेशिया ग्रुप’ के अध्यक्ष एवं संस्थापक इयान ब्रेमर ने लिखा है।

पत्रिका के अंदर ‘‘क्या विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र मोदी सरकार के पांच साल और झेल सकता है?’’ शीर्षक के तहत एक लेख छपा है जिसे तासीर ने लिखा है।

इसके अलावा ब्रेमर ने ‘‘आर्थिक सुधार के लिए भारत की सबसे बड़ी आशा मोदी’’ शीर्षक के तहत लेख लिखा है। तासीर ने लेख में लिखा, ‘‘मोदी के आर्थिक चमत्कार वास्तविक बनने में न केवल असफल हुए बल्कि इसने भारत में जहरीले धार्मिक राष्ट्रवाद का माहौल पैदा करने में भी मदद की।’’ 

तासीर ने कहा कि भारत की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के पास राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी को, भाई के साथ खड़ा करने के अलावा और कोई राजनीतिक सोच नहीं बची। उन्होंने कहा कि मोदी भाग्यशाली हैं कि उनका विपक्ष इतना कमजोर है। 

वहीं दूसरी ओर, ब्रेमर ने लिखा कि मोदी का आर्थिक रिकॉर्ड मिश्रित रहा है लेकिन, ‘‘भारत को बदलाव की आवश्यकता है और मोदी अब भी वह व्यक्ति है जो ऐसा कर सकते हैं।

उन्होंने चीन, अमेरिका और जापान के साथ संबंधों में सुधार किया है।’’  उन्होंने कहा कि उनके घरेलू विकास एजेंडे ने करोड़ों लोगों के जीवन में सुधार किया है।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

बिहारः क्यों वायरल हो रहे हैं औरतों से अपराध के वीडियो?
समूचे देश में सजा है बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के नाम पर ठगी का बाजार
राम रहीम के बाद अब फलाहारी बाबाः पीएम मोदी, भागवत, राजनाथ तक है कनेक्शन
सुपारी टीवी पत्रकार हैं अर्नब गोस्वामी  :राहुल कंवल
इसे पढ़िए और पहल कीजिएः जरुरी है दासता की इन बेडियों को उतार फेंकना
राहुल ने पुछा- ‘मोदी जी, जय शाह जादा खा गया, आप चौकीदार या भागीदार?’
नीतीश ने सबसे अधिक किसानों,युवाओं और गरीबों को पहुंचाई तकलीफः अखिलेश यादव
विशेष श्रद्धांजलिः ...तब जहानाबाद में 12 किलोमीटर पैदल चले थे कुलदीप नैयर
BRD मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में फिर हुई 72 घंटे में 46 बच्चों की मौत
रांची होटवार जेल बना पुलिस छावनी, काफी आक्रोश में हैं बिहार-झारखंड के राजद नेता
सुरक्षा गार्ड की दानवताः 6 वर्षीय बच्ची की पहले गला दबा की हत्या, फिर शव संग किया रेप
राहुल गाँधी और आतंकी डार की वायरल फोटो की क्या है सच्चाई ?
क्या गुल खिलाएगी 'साहिब' के 'साहब' की नाराजगी !
महाराष्ट्र पर आज यूं हुआ महाबहसः सुप्रीम कोर्ट ने कहा-'संविधान की रक्षा हमारी ड्यटी, कल पेश करें राज...
तीन तलाक को राष्ट्रपति की मंजूरी, 19 सितंबर से लागू, यह बना कानून!
प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय खंडहरः खतरे में ‘विश्व धरोहर’!
भारत के 47वें CJI बने जस्टिस शरद अरविंद बोबडे
बिहारियों के दर्द को समझिए सीएम साहब
एयरटेल,वोडाफोन,आयडिया ग्राहकों ने जियो पर मारे 13,500 करोड़ के मिस्ड कॉल
यूं वैश्विक सुर्खियां बटोर रहा ‘फकीर’ का ‘चश्मा’!
अमित शाह की परछाई से कैसे निकल पाएंगे नड्डा !
बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम
CAA पर रोक से SC का इन्कार, केंद्र से 4 हफ्ते में मांगी जवाब, सुनवाई कर सकती है संविधान पीठ
पुण्यतिथि विशेषः मोतिहारी में जन्मे थे जार्ज ओरवेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
Menu
error: Content is protected ! india news reporter