जानिए कौन थे लाफिंग बुद्धा, कैसे पड़ा यह नाम

Share Button

INR. दुनिया के कई देशों के साथ भारत में भी लाफिंग बुद्धा की छोटी-मोटी मूर्तियां या तस्वीरें घर में रखना शुभ माना जाता है।

मान्यता है कि लाफिंग बुद्धा की मूर्ति या तस्वीर घर में रखने से परिवार में सुख-समृद्धि और खुशहाली आती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि लाफिंग बुद्धा कौन थे और इनका नाम लाफिंग बुद्धा क्यों पड़ा।

कहा जाता है कि महात्मा बुद्ध के एक जापानी शिष्य थे, जिनका नाम होतई था। मान्यता है कि ज्ञान प्राप्त होने के बाद होतई जोर-जोर से हंसने लगे और तभी से उन्होंने लोगों को हंसाना और खुश देखना अपने जीवन का एकमात्र उद्देश्य बना लिया है।

इसी वजह से जापान और चीन के लोग उन्हें हंसता हुआ बुद्धा कहने लगे और इसी नाम का अंग्रेजी रूपांतरण है लाफिंग बुद्धा।

होतई की तरह उनके अनुयायी भी लोगों को हंसाने और खुशी देने का उद्देश्य दुनिया में फैलाने लगे। चीन में होतई को पुतई के नाम से जाना जाता है और इन्हें फेंग शुई का भगवान भी माना जाता है।

मान्यता है कि लाफिंग बुद्धा की मूर्ति या तस्वीर घर में रखने से सकारात्मक ऊर्जा और गुड लक आता है।  इससे घर में धन धान्य कि कोई कमी नहीं रहती और संपन्नता हमेशा बनी रहती है।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

पर्यटकों से फिर गुलजार होने लगी ककोलत की मनोरम वादियां
राजगृह के वैभारगिरी पहाड़ी पर हुई थी बौद्ध ग्रंथ त्रिपिटक की पहली संगीति
'कमल' खिलते ही त्रिपुरा में व्लादिमीर लेनिन की मूर्ति पर चलाया बुल्डोजर
चुनाव आयोग का ऐतिहासिक फैसला:  कल रात 10 बजे से बंगाल में चुनाव प्रचार बंद
बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम
'PUBG' की लत से ग्रस्त युवा बन रहे हैं निकम्मा और अपराधी
कमिश्नर के घर जाने वाली CBI टीम को कोलकाता पुलिस ने हिरासत में लिया
पीएम मोदी के वाराणसी में पुल गिरा, 50 से उपर लोग दबे
दलित राजनीति की सशक्त धारा को भुनाने की सफल प्रयास है ‘काला’
एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की 'आपातकाल' की पृष्ठभूमि
अभिनेता अनुपम खेर सहित 14 पर थाने में एफआईआर के आदेश
शिव सैनिकों की फौज जो न कर सकी, वह इस लॉ स्टूडेन्ट ने कर दिखाया !
नीतीश-जदयू से जुड़े ‘आम्रपाली घोटाले’ के तार, धोनी को भी लग चुका है चूना
राम भरोसे चल रहा है झारखंड का बदहाल रिनपास
एक और नीरव मोदी ने किया 187 करोड़ का घोटाला, PNB समेत 6 बैंकों को लगाया चूना
कर्नाटक में सरकार गिरना लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय : मायावती
सुप्रीम कोर्ट ने आधार कार्ड को लेकर दिये अहम फैसले, ये आपको जानना है जरुरी
'संपूर्ण क्रांति' के 44 सालः ख्वाहिशें अधूरी, फिर पैदा होंगे जेपी?
नीतीश की फिर दो टूक-  मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगी उनकी JDU       
ये हैं चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा और उन पर सवाल उठाने वाले 4 जज
गुजरात में भाजपा 'मोदी मैजिक' के बीच कांग्रेस भी उभरी
पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू
गोरखपुर BRD मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई ठप होने से 30 बच्चों की मौत
बिहारः लापता 34 सरकारी दफ्तरों की तलाश जारी, अभी कोई सुराग नहीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter