चक्रवाती हवाओं के साथ इन राज्यों में भारी बारिश की संभावना

Share Button

आमतौर पर मानसून जून से लेकर 31 अगस्त तक सक्रिय रहता है और फिर इसकी वापसी सितंबर से राजस्थान से शुरू हो जाती है…………..”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। भारतीय मौसम विभाग ने उत्तर और पूर्वी राज्यों में मौसम के बेरुखी होने की संभावना जताई है। विभाग ने पूर्वानुमान व्यक्त करते हुए कहा कि आगामी 10 अक्टूबर तक दक्षिण पश्चिम मानसून ज्यादा सक्रिय हो सकता है।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, असम, मेघालय, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में भारी बारिश की संभावना व्यक्त की है।

इसके साथ ही छत्तीसगढ़, झारखंड, पश्चिम बंगाल, ओडिशा और तेलंगाना के कुछ इलाकों में चक्रवाती हवाओं के साथ भारी बारिश की संभावना व्यक्त की है।

आमतौर पर मानसून जून से लेकर 31 अगस्त तक सक्रिय रहता है और फिर इसकी वापसी सितंबर से राजस्थान से शुरू हो जाती है। सितंबर तक ये पूरे देश से रूखसत हो जाता है, लेकिन इस बार इसके रूखसत होने में विलंब हो रहा है। इस बार ये आगामी 10 अक्टूबर के बाद ही रवाना होगा।

दरअसल, पांच दिनों तक बारिश न होने पर मौसम विभाग ने ऐसी संभावना व्यक्त की है कि 10 अक्टूबर तक मानसून रूखसत हो जाएगा।

मौसम विभाग के आंकड़ों के अनुसार पिछले एक सप्ताह में यूपी,जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, दिल्ली और राजस्थान सहित 12 राज्यों में सामान्य से अधिक बारिश हुई है।

वहीं, अगर हरियाणा की बात करें तो यहां पर भी बारिश की स्थिति समान्य बनी हुई है। जून से सितंबर तक यहां पर समान्य बारिश देखने को मिली है।

0 1
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

हाय रे राजनीति! हाय रे अखबार!!
नालंदाः पुलिस टीम पर ‘शराब गैंग सरगना मुखिया’ का हमला, थानेदार ने यूं बचाई जान
जरा देखिये- 5 साल में 300 फीसदी बढ़ गई अमित शाह की संपत्ति
BSNL देगी यूजर्स को फ्री 1जीबी डेटा
प्रदेश छात्र जदयू महासचिव हत्याकांडः परिजन ने नालंदा पुलिस के खुलासे पर उठाये सवाल
झारखंड विधानसभा चुनाव:रांची जिला,खिजरी क्षेत्र के उम्मीदवारो को मिले मत
IPS जसवीर सिंह सस्पेंड, योगी आदित्यनाथ पर लगाया था रासुका
मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!
नई दिल्ली की सेटिंग के बाद एक मंच पर आये अन्नाद्रमुक के नेता,पन्नीरसेल्वम होगें DCM
ई है सुशासन बाबू की नालन्दा नगरिया: सर्वत्र उठा सवाल,दोषी कौन?कुशासन या किसान?
‘सीएम नीतीश का माफिया कनेक्शन किया उजागर, अब पूर्व IPS को जान का खतरा’
समझिए समय की मांग, त्यागिए सरकारी नौकरी का मोह, जरुरी है यह
वेशार्मों,बताओ ये होली कैसे मनाएँ ?
JNU में नकाबपोश गुंडो का हमला,आइशी घोष समेत करीब 150 छात्र जख्मी, कई गंभीर
रांची के दैनिक सन्मार्ग ने दिया मानवता का परिचय
यूं टूट रहा है ब्रजेश ठाकुर का 'पाप घर'
26 को प्रभातफेरी निकाल बच्चें चमकाएंगे यूं सरकार का चेहरा
उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार
उग्रवाद और पंचायत चुनाव पर नई सोच से झारखंड को कितना बदल पायेगे गुरूजी
14 वर्ष बाद भी बिहार के अंगीभूत कॉलेजों में चल रही इंटर की पढ़ाई !
दार्जिलिंग बन्द 32वें दिन जारी, स्थिति तनावपूर्ण
पेस्सा के तहत चुनाव: शिबू नार्मल लेकिन सुदेश और रघुवर अपने फेर मे
भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए आत्म मंथन का जनादेश
शिक्षा को संभालने में नीतिश सबसे असफल सीएम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter