घर के शेर विदेश में ढेर, 2 टेस्ट और 4 पारियां, 803 रन भी नहीं बना पाई टीम इंडिया

Share Button

(INR). घर के शेर भारतीय बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका में लगातार निराशाजनक प्रदर्शन कर रहे हैं। पहले केपटाउन और अब सेंचुरियन में टीम इंडिया की बल्लेबाजी को देखकर यही कहा जा सकता है कि विराट कोहली की टीम टेस्ट मैच खेलना भूल गई है।

ये कोई आरोप नहीं है, बल्कि दक्षिण अफ्रीका में टीम इंडिया की बल्लेबाजी इसका सबूत है। इससे बेहतर तो ये होता कि भारतीय बल्लेबाज टी-20 की तरह ही इन टेस्ट मैचों को खेलते। ऐसा करने से वो बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे।

ये आंकड़े गवाह हैं

दरअसल, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए दो टेस्ट मैंचों की चार पारियों में टीम इंडिया कुल 802 रन ही बना पाई। केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए मैच की दो पारियों में भारतीय टीम कुल 344 रनों पर सिमट कर रह गई।

भारतीय टीम का यही हाल सेंचुरियन में भी हुआ। यहां पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो पारियों में भारतीय टीम कुल 458 रन ही बना पाई। लिहाजा सेंचुरियन में भी भारतीय टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा।

जीत समाने थी और बिखर गई टीम

यही नहीं, जब टीम को केपटाउन मैच जीतने के लिए 287 रनों का, और सेंचुरियन टेस्ट जीतने के लिए 208 रनों का टारगेट मिला तो पूरी टीम बिखर गई। जीत तो दूर केपटाउन में 135 रनों पर टीम सिमट गई तो सेंचुरियन में 151 रन पर सभी खिलाड़ी आउट हो गए।

बल्लेबाजों ने किया निराश

बुधवार को सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका की आक्रामक गेंदबाजी के सामने भारतीय बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए।

यहां खेले गए दूसरे टेस्ट में भारत को 135 रनों से शिकस्त का सामना करना पड़ा।

इसके साथ ही विराट कोहली की टीम के लगातार नौ टेस्ट श्रृंखला जीतने के अभियान पर भी विराम लग गया। वहीं, पहले टेस्ट में 72 रन से जीत दर्ज करने वाली दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की विजयी बढ़त बना ली।

बुधवार को सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका के 287 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम असमान उछाल वाली सुपर स्पोर्ट्स पार्क की पिच पर पांचवीं और अंतिम दिन दूसरी पारी में 50 ।2 ओवर में 151 रन पर ढेर हो गई।

टीम इंडिया की ओर से रोहित शर्मा ने सर्वाधिक 47 रन बनाए। फाफ डु प्लेसिस की अगुआई वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इसके साथ ही 2015 में भारत में मेजबान टीम के हाथों 0-3 की हार का बदला भी चुकता कर लिया।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां
नालंदा प्रशासन को बिहारशरीफ सदर अस्पताल के कैदी वार्ड में हादसा या वारदात का इंतजार है?
धर्मांतरण, घर वापसी और धर्मयुद्ध
HM से मिले MLA अमित, हुआ खुलासा, रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं !
9वीं कक्षा की परीक्षा में पूछा सवाल, 'गांधी जी ने आत्महत्या कैसे की'? 😳
बिहार के इस बाहूबली के मूंछ की ताव से गरमाई सियासत !
मंत्री बनने लिये जय श्रीराम के बोल, फिर फतवा के बाद मांग ली माफी
प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !
POK के आतंकी अड्डों पर आसमानी प्रहार, मिराज ने की भीषण बमबारी
पंचायत चुनाव और उग्रवाद पर दिखा झारखंड के "गुरूजी" का नया अन्दाज
दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन
दलित राजनीति की सशक्त धारा को भुनाने की सफल प्रयास है ‘काला’
राहुल की छड़ी ढूंढने के चक्कर में फिर फंसे गिरि’सोच’राज, यूं हुए ट्रोल
वरिष्ठ पत्रकार रजनीश कुमार झा संग एक ‘गुंडा छाप’ ने की सरेआम गाली-गलौज, दी जान मारने की धमकी
अभिनेता कादर खान के निधन की खबर अफवाह
पुलिस कांस्टेबल ने मंत्री का पैर छूकर आला अफसरों को दिखाया अपना रुतबा
सवाल न्यायपालिका की स्वायत्तता का
'द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर' को लेकर हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल
कांग्रेसियो ने हार का ठीकरा केन्द्रीयमंत्री सुबोधकांत के सिर फोडा
कुलपति प्रोफ़ेसर सुनैना सिंह बोलीं- गौरवशाली इतिहास को पुर्णजीवित करेगा नालंदा विश्वविद्यालय : सुनैन...
नालंदा जिप अध्यक्षा के मनरेगा योजना के निरीक्षण के दौरान मुखिया सब लगे गिड़गिड़ाने, पूर्व विधायक लगे...
वायरल ऑडियो से उभरे सबालः कौन है मुन्ना मल्लिक? कौन है साहब? राजगीर MLA की क्या है बिसात?
न भूलेंगे, न माफ करेंगे, बदला लेंगे :CRPF
कठुआ रेप केस: कोर्ट ने SIT के 6 सदस्यों के खिलाफ दिए FIR दर्ज करने के निर्देश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter