» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

घर के शेर विदेश में ढेर, 2 टेस्ट और 4 पारियां, 803 रन भी नहीं बना पाई टीम इंडिया

Share Button

(INR). घर के शेर भारतीय बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीका में लगातार निराशाजनक प्रदर्शन कर रहे हैं। पहले केपटाउन और अब सेंचुरियन में टीम इंडिया की बल्लेबाजी को देखकर यही कहा जा सकता है कि विराट कोहली की टीम टेस्ट मैच खेलना भूल गई है।

ये कोई आरोप नहीं है, बल्कि दक्षिण अफ्रीका में टीम इंडिया की बल्लेबाजी इसका सबूत है। इससे बेहतर तो ये होता कि भारतीय बल्लेबाज टी-20 की तरह ही इन टेस्ट मैचों को खेलते। ऐसा करने से वो बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे।

ये आंकड़े गवाह हैं

दरअसल, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए दो टेस्ट मैंचों की चार पारियों में टीम इंडिया कुल 802 रन ही बना पाई। केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए मैच की दो पारियों में भारतीय टीम कुल 344 रनों पर सिमट कर रह गई।

भारतीय टीम का यही हाल सेंचुरियन में भी हुआ। यहां पर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दो पारियों में भारतीय टीम कुल 458 रन ही बना पाई। लिहाजा सेंचुरियन में भी भारतीय टीम को करारी हार का सामना करना पड़ा।

जीत समाने थी और बिखर गई टीम

यही नहीं, जब टीम को केपटाउन मैच जीतने के लिए 287 रनों का, और सेंचुरियन टेस्ट जीतने के लिए 208 रनों का टारगेट मिला तो पूरी टीम बिखर गई। जीत तो दूर केपटाउन में 135 रनों पर टीम सिमट गई तो सेंचुरियन में 151 रन पर सभी खिलाड़ी आउट हो गए।

बल्लेबाजों ने किया निराश

बुधवार को सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका की आक्रामक गेंदबाजी के सामने भारतीय बल्लेबाजों ने घुटने टेक दिए।

यहां खेले गए दूसरे टेस्ट में भारत को 135 रनों से शिकस्त का सामना करना पड़ा।

इसके साथ ही विराट कोहली की टीम के लगातार नौ टेस्ट श्रृंखला जीतने के अभियान पर भी विराम लग गया। वहीं, पहले टेस्ट में 72 रन से जीत दर्ज करने वाली दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों की श्रृंखला में 2-0 की विजयी बढ़त बना ली।

बुधवार को सेंचुरियन में दक्षिण अफ्रीका के 287 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम असमान उछाल वाली सुपर स्पोर्ट्स पार्क की पिच पर पांचवीं और अंतिम दिन दूसरी पारी में 50 ।2 ओवर में 151 रन पर ढेर हो गई।

टीम इंडिया की ओर से रोहित शर्मा ने सर्वाधिक 47 रन बनाए। फाफ डु प्लेसिस की अगुआई वाली दक्षिण अफ्रीकी टीम ने इसके साथ ही 2015 में भारत में मेजबान टीम के हाथों 0-3 की हार का बदला भी चुकता कर लिया।

Share Button

Related News:

दलित राजनीति की सशक्त धारा को भुनाने की सफल प्रयास है ‘काला’
नालंदा में गजब हो गया, अंतिम सुनवाई के दिन लोशिनिका से रेकर्ड गायब, मामला राजगीर मलमास मेला सैरात भू...
आतंकी कैंप पर एयर अटैक पर बोले राहुल गांधी- IAF के पायलटों को मेरा सलाम
सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- खतरे में है लोकतंत्र
'भाजपा भगाओ-देश बचाओ' से साबित, लालू आज भी सबसे बड़े कद्दावर नेता
उग्रवाद और पंचायत चुनाव पर नई सोच से झारखंड को कितना बदल पायेगे गुरूजी
आशाराम बापू : मोदी को छोडिये, भारतीय कानून से उपर आप कैसे हो सकते है?
एक इंटरनेशनल गोल्ड मेडलिस्ट खिलाड़ी, जो दूसरों की खेत में चला रहा हल-कुदाल
बड़ा रेल हादसाः रावण मेला में घुसी ट्रेन, 100 से उपर की मौत
सामना अखबार और शिबसेना-मनसे पर तत्काल प्रतिबंध लगे
राहुल की छड़ी ढूंढने के चक्कर में फिर फंसे गिरि’सोच’राज, यूं हुए ट्रोल
इस बार यूं पलटी मारने के मूड में दिख रहा नीतीश का नालंदा
सुबोधकांत की पिकनिक पार्टी: समर्थक ने लगाई आग : मंत्रीजी भी बाल-बाल बचे
खट्टर सरकार को हाई कोर्ट की कड़ी फटकार, कहा- राजनीतिक स्वार्थ में डूबी रही सरकार
तेजप्रताप का शंखनाद- मैं कृष्ण और मेरा भाई अर्जुन, अब होगी असली जंग
महागठबंधन के हुए कुशवाहा और डैमेज कंट्रोल में जुटी भाजपा
उस महिला का गर्भपात की पुष्टि, कोडरमा घाटी में जिस अज्ञात महिला का मिला था शव
शत्रु संपत्ति कानून संशोधन विधेयक से महमूदाबाद राज परिवार को झटका
"अनंत विकास स्रोत" और एच.डी.एफ.सी.बैंक का यह कैसा धंधा?
रसोईया दंपति ने पहले प्रधान शिक्षक को पीटा,फिर किया रेप का केस,मुखिया ने पहले दी धमकी,फिर कराया रेप ...
राम भरोसे चल रहा है झारखंड का बदहाल रिनपास
एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की 'आपातकाल' की पृष्ठभूमि
"सुशासन बाबू" अपने घर-जिले के अधिकारियो पर लगाईये लगाम.पुछिये दोषी कुशासन है या गरीव किसान?
नागफनी के कांटो से घिरे झारखंड के मुख्यमंत्री: देखना है कि क्या कर पाते है?

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter