» समस्तीपुर से लोजपा सांसद रामचंद्र पासवान का निधन   » दिल्ली की 15 साल तक चहेती सीएम रही शीला दीक्षित का निधन   » अपनी दादी इंदिरा गांधी के रास्ते पर चल पड़ी प्रियंका?   » हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार  

गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद

Share Button

INR. गुजरात के बर्खास्त आईपीएस ऑफिसर संजीव भट्ट को जामनगर कोर्ट ने 30 साल पहले हिरासत में हुई एक मौत के मामले में दोषी क़रार देते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई है।  इस मामले में एक और पुलिस ऑफिसर प्रवीण सिंह झाला को भी दोषी क़रार देते हुए उम्र कैद की सजा दी है।

पिछले हफ़्ते सुप्रीम कोर्ट ने ज़मानत देने से इनकार कर दिया था। संजीव भट्ट चाहते थे कि इस मामले में 11 अतिरिक्त गवाहों से पूछताछ हो। संजीव भट्ट ने कहा था कि इस मामले में इन 11 अन्य गवाहों से पूछताछ बहुत अहम है।

1990 में भारत बंद के दौरान जामनगर में हिंसा हुई थी। तब संजीव भट्ट यहां के एसएसपी थे। हिंसा को लेकर पुलिस ने 100 लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें से प्रभुदास माधवजी की अस्पताल में मौत हो गई थी।

प्रभुदास के भाई अमरुत वैष्णवी ने संजीव भट्ट के ख़िलाफ़ मुक़दमा किया था और उन्होंने हिरासत में प्रताड़ाना के आरोप लगाए थे।

मोदी पर उठाई थी उंगलीः संजीव भट्ट गुजरात काडर के आईपीएस अधिकारी हैं। जिन्होंने 2002 में गुजरात दंगों में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका पर सवाल खड़े किए थे। 2015 में गुजरात सरकार ने निलंबित आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को बर्खास्त कर दिया था।

बता दें कि भट्ट गुजरात के जामनगर में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के रूप में पदस्थ थे, जब एक व्यक्ति की हिरासत में मौत हुई थी।

अभियोजन पक्ष के अनुसार भट्ट ने वहां एक सांप्रदायिक दंगे के दौरान सौ से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया था और इनमें से एक व्यक्ति की रिहा किए जाने के बाद अस्पताल में मौत हो गई थी।

2015 में हुए थे बर्खास्तः  इतना ही नहीं भट्ट को 2011 में बिना अनुमति के ड्यूटी से नदारद रहने और सरकारी गाड़ियों का दुरुपयोग करने के आरोप में भी निलंबित कर दिया गया था और बाद में अगस्त 2015 में उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

इससे पहले 1998 के मादक पदार्थ से जुडे़ एक मामले में भी भट्ट गिरफ्तार हुए थे। तब संजीव भट्ट को पालनपुर में मादक पदार्थों की खेती के एक मामले में छह अन्य लोगों के साथ अरेस्‍ट किया गया था। 1998 में संजीव भट्ट बनासकांठा के डीसीपी थे।

Share Button

Related News:

BRD मेडिकल कॉलेज में  मौतों का सिलसिला जारी, 48 घंटो में फिर 42 बच्चों की मौत
अपने ब्लॉग के रेस्पोंस से काफी उत्साहित हैं नीतीश कुमार
सीएम के हाथों राजकीय राजगीर मलमास मेला का यूं हुआ आगाज
गरजे तेजस्वी- ‘मेरे अंदर लालू जी का खून, मैं किसी से डरने वाला नहीं’
बड़ा फर्क है न.1 जर्नलिस्ट.काम के सूरत और सीरत में!!
एक चपरासी से भी बद्दतर दिमाग वाला है नालंदा का डी.एम.संजय कुमार अग्रवाल ?
सिल्ली MLA अमित कुमार ने केन्द्रीय मंत्री से मुलाकात कर रखी ये समस्याएं
मैदान छोड़ कहाँ भागे बाबूलाल मरांडी ?
कही ले न डूबे सुदेश मह्तो को उनकी रजनीतिक महत्वाकान्क्षा
विशेष श्रद्धांजलिः ...तब जहानाबाद में 12 किलोमीटर पैदल चले थे कुलदीप नैयर
कानून बनाओ या अध्यादेश लाओ, राममंदिर जल्द बनाओ : उद्धव ठाकरे
परमिट के नाम पर बसों की चांदी, यात्रियों की जान के साथ कर रहे खिलवाड़
क्या गुल खिलाएगी 'साहिब' के 'साहब' की नाराजगी !
बिहार:गरीबों को टरकाते हैं हिलसा अनुमंडल के पदाधिकारी
'भाजपा भगाओ-देश बचाओ' से साबित, लालू आज भी सबसे बड़े कद्दावर नेता
भागलपुर मे भारी विरोध: राहुल जी बिहार के लोग खासकर युवा अब पहले जैसा नहीं रहा!!
ममता की रैली में शामिल हुए भाजपा के 'शत्रु', पार्टी ने दिए कार्रवाई के संकेत
समझिये, केजरीवाल की 'ईमानदारी' की पोल खोलने वाला टैंकर घोटाला
चुनाव आयोग का ऐतिहासिक फैसला:  कल रात 10 बजे से बंगाल में चुनाव प्रचार बंद
पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव को लेकर आदिवासी और सदान आमने-सामने
न्यायालय ने फिल्म आरक्षण के प्रदर्शन पर रोक लगाई
झारखण्ड: कौन बनेगा सीएम? आदिवासी या सदान?
बच्चा चोरी अफवाह में 7लोगों की हत्या से उत्पन्न हिंसक उपद्रव के बाद जमशेदपुर का माहौल अब शांत
उस अबला की अनसुनी दास्तान, जिसके संग राम रहीम ने किया था रेप

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter