» प्रियंका के इंकार के बाद रिंग में दस्ताने पहन यूं अकेले रह गए मोदी   » बीजेपी दफ्तर को बम उड़ाया, पीएम मोदी की मेढ़क से तुलना, नीतीश पर भी प्रहार   » जदयू नेता से यूं मांगे 5 लाख और यूं 2 लाख लेते धराए गया के एसडीओ   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!   » राजनीतिक दोस्तों के भी रियल ‘शत्रु’ हैं बिहारी बाबू !   » पत्नी अपूर्वा शुक्ला ने की थी रोहित शेखर तिवारी की गला दबा हत्या   » राजनीतिक नेपथ्य में धकेले गए राम मंदिर आंदोलन के नायक और भाजपा का भविष्य   » ढींढोर पीटने वाले, फौजियों के इस गांव में कहां पहुंचा विकास   » EC का बड़ा एक्शनः योगी-मायावती के चुनाव प्रचार पर रोक   » पत्रकार पुत्र की निर्मम हत्या पर बोले मांझी-  बेशर्म हैं सत्ता में बैठे लोग  

कोलकाता पुलिस की बड़ी कार्रवाई, पूर्व सीबीआई निदेशक के ठिकानों पर छापेमारी

Share Button

“राव के जिन ठिकानों पर कोलकाता पुलिस ने छापामारी की है, उसमें एक सेंट्रल कोलकाता में है और दूसरा सॉल्ट लेक में उनकी पत्नी की एंजेला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड है……”

INR.  पश्चिम बंगाल की कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के अंतरिम निदेशक रह चुके नागेश्वर राव के दो अलग-अलग स्थानों पर शुक्रवार की शाम छापेमारी की।

पहले भी पुलिस नागेश्वर राव की पत्नी की कंपनी पर रेड कर चुकी है। और उसके बाद ही सीबीआई ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर पर शिकंजा कसा था

बता दें कि एंजेला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड (AMPL) एक गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (NBFC) है। यह कथित तौर पर फरवरी 1994 में शुरू की गई थी। शशि अग्रवाल, प्रतीक अग्रवाल, प्रवीण अग्रवाल और सुनील कुमार अग्रवाल इस कंपनी के निदेशक हैं।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बहुबाजार थाने में दर्ज एक पुरानी शिकायत की कोलकाता पुलिस द्वारा जांच के तहत एंजिला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड के दो कार्यालयों पर छापा मारा गया।

उन्होंने बताया कि 30 पुलिस अधिकारियों के एक दल ने इन दो कार्यालयों पर छापा मारा जो राव की पत्नी मन्नेम संध्या से कथित रुप से संबद्ध है। पुलिस अधिकारी ने कहा कि कंपनी और संध्या के बीच कई लेन-देन हुए हैं। हम मामले की जांच कर रहे हैं।

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मुजफ्फरपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले की सुनवाई करते हुए सीबीआई के तत्कालीन अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव को तलब किया। सुप्रीम कोर्ट ने राव को फटकार लगाई है कि किस परिस्थिति में उन्होंने जांच अधिकारी का ट्रांसफर किया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश का उल्लंघन कर बिहार आश्रय गृह मामलों की जांच कर रहे सीबीआई के अधिकारी एके शर्मा का तबादला करने पर सुप्रीम कोर्ट ने राव के प्रति कड़ा रूख अख्तियार किया है।

कोर्ट ने सीबीआई के तत्कालीन अंतरिम निदेशक एम नागेश्वर राव को अवमानना का नोटिस भेजा और 12 फरवरी को अपने समक्ष पेश होने को कहा।

हालांकि छापेमारी को लेकर नागेश्वर राव ने प्रेस नोट जारी किया है। जिसमें उन्होंने एंजेला मर्केंटाइल प्राइवेट लिमिटेड के साथ किसी भी तरह का लिंक होने से इंकार किया है।

नागेश्वर राव के दफ्तर की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कोलकाता पुलिस ने छापे में एक लैपटॉप और कुछ कागजात जब्त किए हैं।

नागेश्वर राव ने इसे पूरे छापे को एक प्रोपेगेंडा करार दिया। इससे पहले 30 अक्टूबर 2018 को उन्होंने एक बयान जारी कर एंजेला मर्केंटाइल्स प्राइवेट लिमिटेड से कोई संबंध होने से इंकार किया था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
» मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!   » राजनीतिक नेपथ्य में धकेले गए राम मंदिर आंदोलन के नायक और भाजपा का भविष्य   » ढींढोर पीटने वाले, फौजियों के इस गांव में कहां पहुंचा विकास   » शादी के बहाने बार-बार यूं बिकती हैं लड़कियां और नेता ‘ट्रैफिकिंग’ को ‘ट्रैफिक’ समझते   » बिहार के इस टोले का नाम ‘पाकिस्तान’ है, इसलिए यहां सड़क, स्कूल, अस्पताल कुछ नहीं   » यह है दुनिया का सबसे अमीर गांव, इसके सामने हाईटेक टॉउन भी फेल   » ‘शत्रु’हन की 36 साल की भाजपाई पारी खत्म, अब कांग्रेस से बोलेंगे खामोश   » राहुल गाँधी और आतंकी डार की वायरल फोटो की क्या है सच्चाई ?   » घाटी का आतंकी फिदायीन जैश का ‘अफजल गुरू स्क्वॉड’   » प्रियंका की इंट्री से सपा-बसपा की यूं बढ़ी मुश्किलें  
error: Content is protected ! india news reporter