…और एक फिल्म की शूटिंग ने राजगीर ‘रोपवे’ को दिला दी अंतरराष्ट्रीय पहचान

Share Button

राजगीर कभी वसुमतिपुर, गिरिव्रज, वृहद्रधपुर, कुशाग्रपुर और राजगृह नाम से प्रसिद्ध रहा है। राजगीर की धरा कभी ब्रह्मा की पवित्र यज्ञ भूमि मानी जाती है। भगवान बुद्ध की साधना भूमि, पहली बौद्ध  संगीति यहीं हुई थी। जरासंध की धरती राजगृह जहाँ जरासंध ने कृष्ण को हराकर मथुरा से द्वारिका जाने को विवश किया था……….”

एक्सपर्ट मीडिया न्यूज नेटवर्क। राजगीर नाम आते ही जेहन में हसीन वादियों जैसी एक प्राकृतिक छटा बिखरने लगती है। यह कभी मगध साम्राज्य की राजधानी हुआ करती थी। जहाँ बाद में मौर्य साम्राज्य का उदय हुआ।

राजगीर के विश्व प्रसिद्ध रत्नागिरि पर्वत पर विश्व शांति स्तूप दुनिया को शांति का संदेश दे रहा है। कभी इसी जगह भगवान बुद्ध ने अपना उपदेश दिया था। बाद में भगवान बुद्ध के 2600 वी जयंती के मौके पर इस जगह जापान के सहयोग से शांति स्तूप का निर्माण किया गया था।

कहा जाता है कि जब पचास साल पहले विश्व शांति स्तूप का निर्माण चल रहा था। तब इस पहाड़ी रास्ते पर निर्माण सामग्री पहुँचाने के लिए ‘रोप वे’ का निर्माण किया गया था। बाद में जब शांति स्तूप का निर्माण पूरा हो गया तो बाद में यह रोप वे पर्यटकों के आने-जाने के काम में आने लगा।

11 नवम्बर 1970 जब देश के सिनेमा घरों में विजय आनंद की फिल्म “जॉनी मेरा नाम” रिलीज हुई तो रातों रात नालंदा का प्राचीन विश्वविद्यालय खंडहर और राजगीर रोप वे अचानक सुर्खियों में आ गया।

नालंदा के लोगों ने जब यह फिल्म देखी तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं था।अपने  जिला और शहर को फिल्म के पर्दे पर देखकर फूले नही समा रहे थे।

1970 में अभिनेता देव आनंद तथा हेमा मालिन अभिनीत फिल्म “जॉनी मेरा नाम” फिल्म की शूटिंग नालंदा खंडहर और राजगीर रोप वे पर दस दिनों तक की गई थी। इस फिल्म का एक गाना ‘ओ मेरे राजा वादा तो निभाया ‘की शूटिंग इसी हसीं वादी में की गई थी।

इस गाने में पार्श्व गायक किशोर कुमार और आशा भोंसले की सुरीली आवाज आज भी मंत्रमुग्ध कर देती है। इस गाने की आखिरी शूटिंग राजगीर रोप वे पर की गई थी। जिस पर फिल्म के हीरो देव आनंद और हेमा मालिन सवार हुई।

फिल्म जॉनी मेरा नाम ने बाद में राजगीर रोप वे को एक अलग पहचान दिला दी। इस फिल्म में पुलिस अधिकारी मशहूर चरित्र अभिनेता इफ्तेखार भी अपने पुलिस के साथ नजर आते हैं।

कहा जाता है कि फिल्म रिलीज होने के बाद बड़ी संख्या में देश-विदेश से पर्यटक राजगीर आने लगें थे। हर कोई रोप वे के उस सीटर पर बैठना चाहता था, जिस पर देव आनंद और हेमा मालिन बैठी थी। यहाँ तक कि उसकी अग्रिम बुकिंग और मनचाहा कीमत भी देने को लोग तैयार रहते थे।

राजगीर में नया रोप वे बनकर तैयार होने वाला है। 25 अक्टूबर के पहले राजगीर में आठ सीटर रोप वे पर्यटकों के लिए उपलब्ध हो जाएगा। सीएम नीतीश कुमार ने 28 नवम्बर, 2015 को इस नये रोप वे की आधारशिला रखी थी।

इस रोप वे का ट्रायल अब अंतिम चरण में है। नया रोप वे केबिननुमा होगा, जिसमें परिवार के साथ बच्चे भी राजगीर के घाटियों के मनोरम दृश्य का आनंद ले सकते हैं।

1 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

नालंदा पुलिस को मिली आज कई कामयाबी, केवट गैंग का पर्दाफाश, शराब-हथियार समेत 15 धराये
दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड ले बोले अमिताभ- अभी बाकी है काम
पटना के जक्कनपुर में वर्षों से छुपा था दाऊद इब्राहिम का कुख्यात शुटर, मुंबई पुलिस ने दबोचा
बिहार के इस बाहूबली के मूंछ की ताव से गरमाई सियासत !
गेट वे इंडिया से 6 मीटर ऊंचा है गेट वे बिहार
कुंदन पाहन ने चौंकाया, नेपाली PM प्रचंड ने झारखंड में ली थी नक्सली ट्रेनिंग!
'भाजपा भगाओ-देश बचाओ' से साबित, लालू आज भी सबसे बड़े कद्दावर नेता
पीएम मोदी पर फिर बिफरे  भाजपा के 'शत्रु', विदेशी दौरे पर कसा तंज
तो क्या ‘बे-कार’ हैं खरबपति सांसद किंग महेन्द्र !
निर्भया के चारो दरींदे  के खिलाफ ब्लैक वारंट जारी, 22 की सुबह होगी फांसी  
जाति-धर्म के नाम पर नहीं, सामाजिक और शैक्षणिक आधार पर हो आरक्षणः उपेन्द्र कुशवाहा
सोनिया गांधी: एक करिश्माई नेतृत्व का सन्यास
जब जनता अकुलाती है तो फौरन जादू का खेल दिखाने लगते हैं!
JNU में नकाबपोश गुंडो का हमला,आइशी घोष समेत करीब 150 छात्र जख्मी, कई गंभीर
शिक्षा को संभालने में नीतिश सबसे असफल सीएम
CAA पर रोक से SC का इन्कार, केंद्र से 4 हफ्ते में मांगी जवाब, सुनवाई कर सकती है संविधान पीठ
ट्रक से टकराई महारानी बस, 9 की मौत, 25 घायल, हादसे की दर्दनाक तस्वीरें
रिटायर्ड सिपाही का बेटा लेफ्टिनेंट बन नगरनौसा का नाम किया रौशन
बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम
'अर्द्धसत्य का दमदार विलेन रामा शेट्टी'
डॉ. जायसवाल की ताजपोशी कहीं सुशील मोदी की काट तो नहीं!
राम ही खुद तय करेगें अयोध्या में मंदिर निर्माण की तारीखः योगी आदित्यनाथ
“मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में 5 दिसंबर 1992 की स्थिति चाहिए”
रसोईया दंपति ने पहले प्रधान शिक्षक को पीटा,फिर किया रेप का केस,मुखिया ने पहले दी धमकी,फिर कराया रेप ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter