….और इस कारण 6 माह में 3 बार यूं बदले केन्द्र सरकार की ‘मोदी केयर’ के नाम

Share Button

अंग्रेजी साहित्यकार शेक्सपीयर ने कहा था- नाम में क्या रखा है। लेकिन बात अगर सरकारी योजनाओं की हो, तो नाम में बहुत कुछ रखा है। ये बात साबित कर दी है केंद्र सरकार के महात्वाकांक्षी प्रोजेक्ट “मोदी केयर” ने…..”

(INR). पीएमओ, स्वास्थ्य मंत्रालय और नीति आयोग ने योजना का खाका रचा-बुना। जोर-शोर से ऐलान भी हुआ, पर बात अटक गई नामकरण पर। लॉन्च की घोषणा के बाद से 6 महीने में 3 बार योजना का नाम बदला जा चुका है। कभी नाम में “आरएसएस” ने पेंच फंसाया, तो कभी “पीएम-जा” शब्द ने रास्ता काटा।

10.74 करोड़ परिवारों को बीमा देने वाली इस योजना को शुरुआत में नीति आयोग ने “नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन” नाम दिया गया। अब भारत में अंग्रेजी नाम वाली योजना भला कैसे लोकप्रिय होती।

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने फरवरी में बजट पेश करते हुए योजना का नए नाम के साथ परिचय कराया- “राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना”। नाम का शॉर्टफॉर्म बन रहा था-आरएसएसवाई। यानी नाम में “आरएसएस” आ रहा था।

स्वास्थ्य मंत्रालय के फौरन कान खड़े हो गए। उनको शक था कि योजना के नाम में आरएसएस आने से राजनीतिक विवाद खड़ा हो सकता है। तय हुआ कि नया नाम ढूंढा जाए।

स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने योजना को 25 सितंबर से लागू करने की घोषणा की तो इसे “प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान” कहकर पुकारा। फिर शॉर्टफॉर्म ने पेंच फंसाया। पीएमजेएए, जिसका उच्चारण पीएम-जा बन रहा था। इसलिए इस नाम से दूर रहना बेहतर समझा गया।

12 दिन बाद जब योजना का लोगो लॉन्च करने के लिए 3 केंद्रीय मंत्रियों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई तो एक और बदला हुआ नाम सामने आया- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना। इस नाम का तो शॉर्टफॉर्म भी अच्छा बन गया- पीएम-जय (पीएमजेएवाई)। आखिरकार मंत्रालय से पीएमओ तक नाम की जय-जय हो गई।

कभी अंग्रेजी तो कभी विवाद के अंदेशे ने रास्ता काटा… जब योजना तैयार हो रही थी, तो इसका नाम रखा गया- नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन मिशन। अंग्रेजी नाम था, तो खारिज हो गया।

  • 1 फरवरी: अरुण जेटली ने बजट भाषण में नाम दिया- राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना यानी आरएसएसवाई। शॉर्टफॉर्म में आरएसएस होने की वजह से नाम खारिज।
  • 15 अगस्त: लालकिले से भाषण में पीएम मोदी ने कहा- प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान यानी पीएमजेएए। नाम का शॉर्टफॉर्म बना- पीएम जा। नाम खारिज।
  • 27 अगस्त: नया नाम- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना यानी पीएमजेएवाई। शॉर्टफॉर्म बना- पीएम जय। नाम पास।
Share Button

Related News:

"ये झारखंड प्रधान है. !!"
इस 'नाग-फांस' से मुक्ति कैसे पाएंगे झारखंड के डीजीपी!
सही सलामत घर लौटे निवर्तमान राजद विधायक का राज
हल्दी घाटी युद्ध की 443वीं युद्धतिथि 18 जून को, शहीदों की स्मृति में दीप महोत्सव
पिछले चार साल मे लाखपति से अरबपति बने नीतिश के चहेते मंत्री हरिनारायण सिन्ह
पुलिस तंत्र के खौफ की कहानी है ‘द ब्लड स्ट्रीट’
सलमान खान को 5 साल की सजा, गए जोधपुर सेंट्रल जेल
नालंदा लोशिनिप संजीव सिन्हा ने कहाः रेकर्ड सुरक्षित होगें, अगली तिथि जल्द, न्याय होगा
पटना जैसी जल-जमाव रूपी आपदा के कारण और निदान
जाति-धर्म के नाम पर नहीं, सामाजिक और शैक्षणिक आधार पर हो आरक्षणः उपेन्द्र कुशवाहा
जज मानवेन्द्र मिश्रा ने यूं उकेरी शिवहर के अतीत-वर्तमान का सच
मंत्री बनने लिये जय श्रीराम के बोल, फिर फतवा के बाद मांग ली माफी
मोदी की गुरु दक्षिणा, आडवाणी बनेगें राष्ट्रपति !
मंहगाई को लेकर संसद में विपक्ष का हल्ला बोल
राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के जन्मदिन पर ये उनका अपमान नहीं तो क्या है ?
सुनो एक कन्या भ्रूण की चित्कार
पटना जंक्शन पर विक्रमशिला एक्सप्रेस से असलहे का जखीरा बरामद, एक गिरफ्तार
NEWS11 (न्यूज इलेवन) का ये कैसा आकड़ा
एनआरसी, एनपीआर व सीएए को लेकर क्यों मचा है बवाल
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केसः नहीं हुई किसी लड़की की हत्या, अन्य के हैं मिले कंकाल-हड्डियां!
दिवस विशेषः मातृभाषा पर गर्व किजिए, उसे जिंदा रखिए
दिल्ली हिंसा के चर्चित इस बदमाश को क्राईम ब्रांच ने यूपी के शामली से दबोचा
भारत के खिलाफ एक आग है पाकिस्तानी विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार
सावधान! Google के जरिए यूं आई कपल की निर्वस्त्र संबंध बनाने की तस्वीरें !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
error: Content is protected ! india news reporter