एसिड अटैक केस में ऐसे एनकाउंटर कर चुके हैं पुलिस कमिश्नर सीपी सज्जनार

Share Button

इस एनकाउंटर के बाद हर कोई साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर सीपी सज्जनार  की तारीफ कर रहे हैं। इन आरोपियों को तुरंत सज़ा देने की मांग हो रही थी………”

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला वेटनरी डॉक्टर से गैंगरेप के बाद हत्या और फिर लाश को जला देने की घटना ने देश को हिला कर रख दिया था।

हर तरफ लोग आरोपियों को तुरंत सरेआम सज़ा देने की मांग कर रहे थे। शुक्रवार को जैसे ही खबर आई कि चारों आरोपियों को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया, लोगों ने इसपर खुशी जताई।

लोगों का कहना है कि पीड़िता और उसके परिवार के लिए इससे बढ़िया इंसाफ और कुछ नहीं हो सकता। यही नहीं घटनास्थल पर पहुंचे लोग पुलिस पर फूल बरसाते भी दिखे।

इस एनकाउंटर के बाद हर कोई साइबराबाद के पुलिस कमिश्नर सीपी सज्जनार की तारीफ कर रहे हैं। इन्हीं के चलते पुलिस की इस केस पर खास नज़र थी।

घटना के तुरंत बाद उन्होंने कहा था कि वो आरोपियों को तुरंत पकड़ लेंगे। और हुआ भी वही। करीब 60 घंटे के अंदर ही पुलिस ने आरोपियों को धर दबोचा। एक हफ्ते के बाद ही पुलिस ने इस घिनौने अपराध का अंत कर दिया।

वर्ष साल 2008 में आंध्र प्रदेश के वारंगल में पुलिस ने इसी तरह एनकाउंटर में एसिड अटैक के तीन आरोपी स्टूडेंट को मार गिराया था। उस वक्त वारंगल के पुलिस सुपरिटेंडेंट सीपी सज्जनार ही थे।

इसी तरह घटना को रि-क्रिएट करने के लिए तीनों आरोपियों को वो घटनास्थल में ले कर गए थे। ये तीनों आरोपी वहां से भागने की कोशिश करने लगे। तभी पुलिस ने इन्हें एनकाउंटर में मार गिया।

ठीक इसी अंदाज़ में सज्जनार ने इस एनकाउंटर को भी अंजाम दिया। अतंर सिर्फ इतना था वो घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे, लेकिन कहा जा रहा है कि सारा प्लान सीपी सज्जनार का ही था।

बता दें कि आज अहले सुबह साढ़े तीन बजे रिमांड के दौरान पुलिस चारों आरोपियों को घटनास्थल पर ले गई। पुलिस पूरे घटना को आरोपियों की नजर से समझना चाह रही थी।

कहा जा रहा है कि इसी दौरान इन चारों ने पुलिस की गिरफ्त से भागने की कोशिश की। ऐसे में पुलिस के सामने गोली चलाने के अलावा कोई चारा नहीं था। उन्होंने इन्हें पकड़ने के लिए गोलियां बरसा दी। देखते ही देखते चारों आरोपी वहीं ढेर हो गया। बाद में इन सबकी लाश को सरकारी अस्पताल भेज दिया गया।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

सुप्रीम कोर्ट से 10 दिन में आएगा ये 4 बड़ा फैसला, होगी देश की तस्वीर पर असर
अफसरों से बोले नितिन गडकरी- ‘काम करो नहीं तो लोगों से कहूंगा धुलाई करो’
नालंदाः पुलिस टीम पर ‘शराब गैंग सरगना मुखिया’ का हमला, थानेदार ने यूं बचाई जान
कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली में राहुल गांधी का मोदी पर आक्रामक हमला
कुलपति प्रोफ़ेसर सुनैना सिंह बोलीं- गौरवशाली इतिहास को पुर्णजीवित करेगा नालंदा विश्वविद्यालय : सुनैन...
SC का यह फैसला CBI की साख बचाने की बड़ी कोशिश
गुजरात मॉडलः एक्जाम में सभी 199 जज और 1372 वकील फेल, रिजल्ट शून्य!
पिछले 4 वर्षों में दवा परीक्षण के दौरान 1500 लोगों की मौतः केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री
दक्षिण अफ्रीका का सूपड़ा साफ, भारत ने पारी और 202 रन से हराया
जागरण प्रकाशन हुआ विदेशी गुलाम
जेएनयू को नष्ट करना चाहता है हिंदू रक्षा दल, उसी के नकाबपोश गुंडों ने किया था हमला
मुंडा सरकार ने झारखंड के पत्रकारों के बीच बांटी रेवड़ियां
आरटीआई के दायरे में है निलबंन और आरोप-पत्र की जानकारी
पटना साहिब सीटः एक अनार सौ बीमार, लेकिन...
एक करोड़ के ईनामी ये 2 माओवादी ने सरकार मांग रखी है देहदान की ईच्छा  
अपने घर-जिले नालंदा में फैले कुशासन को लेकर "सुशासन बाबू " ने अपनाये कड़े तेवर
बाबा रामदेव पर आया राखी सावंत का दिल, शादी की ईच्छा जताई
बाल-राज ठाकरे देशद्रोही दिमाग वाले : नीतीश कुमार
मेरी सरकार को प्रमाण-पत्र देने से पहले राहुल बताये कि वे बिहार के विकास के लिए वे क्या कर रहे: नीतीश...
आखिर अन्ना इतने जिद्दी क्यों हैं !
बिहारः लापता 34 सरकारी दफ्तरों की तलाश जारी, अभी कोई सुराग नहीं
सुप्रीम कोर्ट के जजों के प्रेस कांफ्रेंस के बाद  प्रधानमंत्री ने बुलाई कानून मंत्री की अपात बैठक
ई शिबू सोरेन से कुछ न होगा !
खुफिया सूचना तंत्र को मजबूत करने का समय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter