» हाई कोर्ट ने खुद पर लगाया एक लाख का जुर्माना!   » बेटी का वायरल फोटो देख पिता ने लगाई फांसी, छोटे भाई ने भी तोड़ा दम   » पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » बजट का है पुराना इतिहास और चर्चा में रहे कई बजट !   » BJP राष्‍ट्रीय महासचिव के MLA बेटा की खुली गुंडागर्दी, अफसर को यूं पीटा और बड़ी वेशर्मी से बोला- ‘आवेदन, निवेदन और फिर दनादन’ हमारी एक्‍शन लाइन   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » उस खौफनाक मंजर को नहीं भूल पा रहा कुकड़ू बाजार   » प्रसिद्ध कामख्या मंदिर में नरबलि, महिला की दी बलि !   » गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद   » इधर बिहार है बीमार, उधर चिराग पासवान उतार रहे गोवा में यूं खुमार, कांग्रेस नेत्री ने शेयर की तस्वीरें  

ईको टूरिज्म स्पॉट बनकर उभरेगा घोड़ा कटोरा :सीएम नीतीश

Share Button

“यहां स्थापित की गयी प्रतिमा पत्थर की है। कहीं दूसरी जगह ऐसी पत्थर की प्रतिमा नहीं मिलेगी। पर्यटन के दृष्टिकोण से यहां खुबसूरत पार्क का निर्माण कराया जा रहा है। इसके साथ ही लोगों के बैठने की व्यवस्था के इंतजाम किये जा रहे हैं….”

राजगीर (INR). इसके पूर्व महाबोधि टेंपल के मुख्य मॉक भंते चालिंदा समेत बड़ी संख्या में आए बौद्ध भंतों के साथ सीएम ने सामूहिक मंत्रोच्चार एवं श्रद्धा भक्ति के साथ प्रार्थना में सम्मिलित होते हुए पूजा-अर्चना की। 

ज्ञात हो कि 70 फीट उंची भगवान बुद्ध की यह प्रतिमा देश की दूसरी सबसे उंची प्रतिमा है। जो पूर्णतः पत्थर से निर्मित है।

सीएम ने घोड़ा कटोरा झील में नौका विहार कर भगवान बुद्ध की प्रतिमा की परिक्रमा की।

सीएम ने कहा कि घोड़ा कटोरा झील ऐतिहासिक स्थल है। यह प्राकृतिक झील है। ये पंच पहाड़ी के बीच में है और यहां पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थापित की गई है।

उन्होंने कहा कि यहां लोग आएंगे और झील में भ्रमण करेंगे तथा भगवान बुद्ध के दर्शन का भी सौभाग्य हासिल करेंगे।

उन्होंने कहा कि जब हम 2009 के दिसंबर में यहां आए थे तो उस समय गृद्धकुट पर्वत और विश्व शांति स्तूप तक पहूंचने के लिये पैदल ही जाना पड़ता था।

सीएम ने कहा कि झील के आसपास का वातावरण काफी मनोरम रहता है। उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग एवं पर्यटन विभाग को झील को डिसिल्टाइज्ड करने की जिम्मेवारी दी गई थी।

उन्होंने कहा कि वन विभाग द्वारा स्थापित टावर से ही सब कुछ दिखायी पड़ेगा। ईको टूरिज्म के लिए यह क्षेत्र काफी महत्वपूर्ण होगा क्योंकि यहां पेट्रोल, डीजल से चालित कोई भी वाहन नहीं चलेंगे।

उन्होंने कहा कि हमलोगों ने पहले ही इस बावत निर्णय लिया है कि यहां इलेक्ट्रानिक गाड़ियां ही चलेंगी। वन विभाग ने यहां के रास्तों को सुगम बनाया है लेकिन लोग पैदल, साइकिल या फिर टमटम से ही पूरे इलाके के भ्रमण का आनंद उठा पायेंगे।

इस क्षेत्र का धार्मिक महत्व भी है क्योंकि भगवान बुद्ध ज्ञान प्राप्ति के पूर्व भी यहां आये थे और ज्ञान प्राप्ति के बाद भी यहां आये।  भगवान बुद्ध यहां के वेणुवन में ही बारह वर्षों तक रहने के दौरान गृद्धकुट पर्वत से ही उन्होंने उपदेश दिये।

सीएम ने कहा कि भगवान महावीर की भी यह पुण्य भूमि है। हिन्दुओं के लिये यहां मलमास मेला लगता है और शुरू से ही अवधारणा है कि 33 करोड़ देवी-देवता यहां इकट्ठा होते हैं।

उन्होंने कहा कि पौराणिक, धार्मिक दृष्टिकोण से देखें तो जरासंध का अखाड़ा भी यहीं था। यहीं पाण्डु पोखर भी है।

सीएम ने कहा कि घोड़ा कटोरा में आज भगवान बुद्ध की प्रतिमा स्थापित हो गयी है। इसके लिये बौद्ध समाज के संतों एवं इनसे जुड़े सभी लोगों को हृदय से धन्यवाद देता हूं। इस यूनिक स्टैच्यू के निर्माण के लिये पर्यटन विभाग एवं जल संसाधन विभाग को भी धन्यवाद देता हूं। मुझे पूरा भरोसा है कि घोड़ा कटोरा ईको टूरिज्म स्थल बनकर उभरेगा।

इस अवसर पर उप सीएम सुशील कुमार मोदी, पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार, ग्रामीण विकास मंत्री श्रवण कुमार, ग्रामीण मंत्री सह नालंदा जिले के प्रभारी मंत्री शैलेश कुमार,  सांसद कौशलेंद्र कुमार, विधायक चंद्रसेन कुमार, जितेंद्र कुमार, विधान पार्षद हीरा बिंद, बीटीएमसी के सचिव एन. दोरजे, प्रधान सचिव पर्यटन रवि मनु भाई परमार, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सीएम के सचिव मनीष कुमार वर्मा,। आयुक्त पटना प्रमण्डल आर.एन.चौंगथू, विशेष सचिव सीएम सचिवालय अनुपम कुमार, पर्यटन विभाग के एमडी सुश्री इनायत खां, सीएम के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह,। महाबोधि टेंपल के चीफ मांक भंत्ते चालिंदा, अन्य बौद्ध भंत्ते सहित बड़ी संख्या में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Share Button

Related News:

एक इंटरनेशनल गोल्ड मेडलिस्ट खिलाड़ी, जो दूसरों की खेत में चला रहा हल-कुदाल
रांची में गरजे राहुल गांधी- देश का चौकीदार चोर है
एन.एच-33 : देखिए मनमानी के फोर लेनिंग का एक नमुना
लूटेरों के लूटेरा झारखंड के महामहिमो खास कर राज्यपाल सिब्ते रजी जांच से बंचित क्योँ?
शिबू सोरेन,बाबूलाल मरांडी और सुदेश महतो जैसे महत्वकांक्षी नेता : बादशाह बानेगें या ताश का जोकर
"पूर्णतः तीन वर्गों में बँट चूका है झारखंड का आदिवासी समुदाय"
अपनी टीम समेत अन्ना गिरफ्तार
HM से मिले MLA अमित, हुआ खुलासा, रांची की निर्भया कांड की CBI जांच की अनुशंसा तक नहीं !
इलाहाबाद हाई कोर्ट ने भेजा था गैंगरेप के मामले में को राहुल गांधी नोटिस
नालंदा डीएम के आदेश से अस्थावां PCH में शराब पीते धराये 'धरती के 2 भगवान', हुये निलंबित
जयंती  विशेषः एक सच्चा पत्रकार, जो दंगा रोकते-रोकते हुए शहीद
अर्जुन मुंडा जी, ई आपका मुख्य सचिव भू-माफ़ियाओं के साथ बड़ा "गेम" कर रहा है
बताओ भाई, आखिर "वंशवाद के विरोधी" और "युवराज" कैसे हैं राहुल गाँधी
5 साल की सजा के 48 घंटे बाद ही जमानत पर यूं रिहा हुआ सलमान
सुबोधकांत बनेंगे मुख्यमंत्री!
उग्रवादियो के खिलाफ गांव के स्कूली बच्चो ने उठाई आवाज़: कहा कि “अंकल माओवादी हमारे स्कूल क्यो उडाते ह...
कांग्रेस के हुए भाजपा के बागी सांसद 'कीर्ति'
इस नग्नता पर नारी संगठनों को लज्जा क्यों नहीं आती !
राहुल ने पुछा- ‘मोदी जी, जय शाह जादा खा गया, आप चौकीदार या भागीदार?’
झूठे साबित हो चुके हैं एग्जिट पोल के नतीजे
सुप्रीम कोर्ट की दो टूकः शादी का वादा कर शारीरिक संबंध बनाना रेप
कल CM,PMO,DGP,DIG,SSP,CSP को भेजा ईमेल, आज सुबह पेड़ से यूं लटकता मिला उसका शव  
सड़ गई है हमारी जाति व्यवस्था
सीएम अर्जुन मुंडा के प्रेस कॉन्फ्रेस में हावी रहे झारखंड के चिरकुट पत्रकार

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...
» पुण्यतिथिः जब 1977 में येदुरप्पा संग चंडी पहुंचे थे जगजीवन बाबू   » कैदी तबरेज तो ठीक, लेकिन वहीं हुए पुलिस संहार को लेकर कहां है ओवैसी, आयोग, संसद और सरकार?   » डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !   » विकास नहीं, मानसिक और आर्थिक गुलामी का दौर है ये !   » एक ऐतिहासिक फैसलाः जिसने तैयार की ‘आपातकाल’ की पृष्ठभूमि   » एक सटीक विश्लेषणः नीतीश कुमार का अगला दांव क्या है ?   » ट्रोल्स 2 TMC MP बोलीं- अपराधियों के सफेद कुर्तों के दाग देखो !   » जब गुलजार ने नालंदा की ‘सांसद सुंदरी’ तारकेश्वरी पर बनाई फिल्म ‘आंधी’   » आभावों के बीच राष्ट्रीय खेल में यूं परचम लहरा रही एक सुदूर गांव की बेटियां   » मुंगेरः बाहुबलियों की चुनावी ज़ोर में बंदूक बनाने वाले गायब!  
error: Content is protected ! india news reporter