‘अर्द्धसत्य का दमदार विलेन रामा शेट्टी’

Share Button

सदाशिव अमरापुरकर ने 300 से ज्यादा हिंदी, मराठी, बंगाली, ओडिया और हरियाणवी फिल्मों में काम किया था। अमरापुरकर आखिरी बार 2012 में बॉम्बे टॉकीज में फिल्मी पर्दे पर नजर आए थे………”

   ✍ नवीन शर्मा

इंडिया न्यूज रिपोर्टर डेस्क। फिल्म निर्देशक गोविंद निहलानी की कल्ट फिल्म अर्द्धसत्य को उसकी ऊंचाई पर ले जाने में जितना योगदान ओम पुरी के इंटेंस अभिनय का है करीब करीब उतना ही सदाशिव अमरापुरकर के जबरदस्त अभिनय का भी है।

विलेन रामा शेट्टी के किरदार को सदाशिव अमरापुरकर ने बहुत ही शिद्दत से निभाया है। वर्षों बाद भी यह किरदार जहन में इसलिए याद रह जाता है क्योंकि यह एक अलग अंदाज का खलनायक था। यह अमरीश पुरी की तरह अनूठे लूक पर निर्भर नहीं था।

रामा शेट्टी एकदम साधारण आदमी की तरह घर में गंजी और लुंगी पहन कर बैठा रहता है। उसे अपनी दरिंदगी और शातिरपना दिखाने के लिए कोई अलग से मेकअप की दरकार नहीं पड़ती बल्कि वो अपने हावभाव और बोली से इस बखूबी जाहिर कर देते हैं।

सदाशिव का जन्म महाराष्ट्र के नासिक में 11 मई 1950 को हुआ था। उनका बचपन का नाम गणेश कुमार नोरवाडे था। 1974 में इन्होंने अपना नाम सदाशिव रख लिया।

महाराष्ट्र के ब्राहमण परिवार में जन्में अमरापुरकर को करीबी मित्र तत्य कहकर पुकारते थे। सदाशिव का विवाह सुनंदा करमाकर के साथ हुआ।

पुणे कॉलेज से इतिहास में एमए कर चुके अमरापुरकर ने कॉलेज के दिनों से ही थियटर और फिल्मों के लिए काम करना शुरू कर दिया था।

1981 में मराठी नाटक हैंड्स अप में अभिनय के दौरान अमरापुरकर की मुलाकात डायरेक्टर गोविंद निहालनी से हुई। गोविंद अपनी फिल्म अर्द्धसत्य के लिए कलाकारों का चयन कर रहे थे।

फिल्म अर्ध सत्य में सदाशिव अमरापुरकर ने डॉन रामा शेट्टी का किरदार निभाया। इसी फिल्म के लिए अमरापुरकर को 1984 में सर्वश्रेष्ठ सह कलाकार का राष्ट्रीय अवॉर्ड मिला।

वर्ष 1987 में आई फिल्म हुकूमत में उन्होंने धर्मेद्र के साथ काम किया। इस फिल्म में सदाशिव ने मुख्य खलनायक का किरदार निभाया और यह फिल्म ब्लॉकबस्टर रही।

अर्द्धसत्य के बाद अमरापुरकर ने पुराना मंदिर, नासूर, मुद्दत, वीरू दादा, जवानी, और फरिश्ते जैसी फिल्मों में रोल किए।

फिल्म निर्देशक महेश भट्ट की 1991 में रिलीज हुई  फिल्म सड़क में एक बार फिर सदाशिव अमरापुरकर ने बेहतरीन अभिनय किया।

संजय दत्त और पूजा भट्ट के लीड रोल वाली इस फिल्म में कोठे की मालकिन महारानी के दमदार रोल के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ खलनायक का फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला।

अच्छा अभिनेता वही है, जो किसी खास इमेज में खुद को बंधने ना दे। सदाशिव ने भी ये कोशिश की। इसलिए विलेन के ठीक विपरीत जाकर उन्होंने कॉमेडियन के रूप में भी कई फिल्मों में काम किया था।

आमिर खान, अजय देवगन, काजोल व जूही चावला की सुपरहिट फिल्म इश्क़ में सदाशिव कॉमेडियन के रोल में जमे थे।

अपने विलेन और कॉमिडी के किरदार के साथ सदाशिव अमरापुरकर ने सिर्फ सिनेमा के लिए ही नहीं बल्कि सोसायटी के लिए भी काफी काम किया। सदाशिव अमरापुरकर फिलैन्ट्रॉफिस्ट, सोशल ऐक्टिविस्ट तो थे ही, साथ में वह कई सामाजिक संगठनों के साथ जुड़े भी हुए थे।

अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति, स्नेहालय, लोकशाही प्रबोधन व्यासपीठ, अहमदनगर ऎतिहासिक वास्तु संग्रहालय जैसे संगठनों से वह प्रमुखता से जुड़े हुए थे।ग्रामीण युवकों के विकास के लिए वह निरंतर प्रयास करते रहे।

सदाशिव अमरापुरकर फिल्मों के अलावा छोटे पर्दे पर भी नजर आए। टीवी शो शोभा सोमनाथ की में उनके काम को खूब सराहा गया।

सदाशिव अमरापुरकर आखिरी बार मीडिया में उस वक्त दिखाई दिए जब होली के मौके पर पानी की बर्बादी रोकने की कोशिश के बाद उनके साथ मारपीट हुई।

25 अक्टूबर 2014 से सदाशिव फेफड़ों में इंफेक्शन के चलते मुंबई के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इसके बाद तीन नवबंर को अमरापुरकर का निधन हो गया।

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Related News:

अपने बच्चों को बाज़🦅बनाईए, ब्रायलर🐥नहीं
बढ़ते अपराध को लेकर सीएम की समीक्षा बैठक में लिए गए ये निर्णय
बर्निंग बस के दर्दनाक हादसे पर हरनौत के विधायक हरिनारायण सिंह की संवेदनहीनता तो देखिये....
नालंदा थाना प्रभारी के निलंबन से महिला आरक्षियों को लेकर सहमे जिले के अन्य थानेदार
प्रियंका के इंकार के बाद रिंग में दस्ताने पहन यूं अकेले रह गए मोदी
'नतीजों में गड़बड़ी हुई तो उठा लेंगे हथियार और सड़कों पर बहेगा खून'
देखिएः डेक्कन कॉलेज सभागार पुणे में ‘स्वामी विवेकानंद’ नाट्य मंचन की प्रमुख छवियां
सड़ गई है हमारी जाति व्यवस्था
राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से हर हाल में हटेगा अतिक्रमण, प्रशासन सक्रिय
इन बालू माफियाओं के खिलाफ पंगु साबित है नालंदा पुलिस-प्रशासन
तेजप्रताप का शंखनाद- मैं कृष्ण और मेरा भाई अर्जुन, अब होगी असली जंग
घर के शेर विदेश में ढेर, 2 टेस्ट और 4 पारियां, 803 रन भी नहीं बना पाई टीम इंडिया
बिहार की ये तिकड़ी संभालेगें इन राज्यों की कमान, शिक्षा माफियाओं के दवाब में हटाए गए मल्लिक?
सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने की प्रेस कांफ्रेंस, कहा- खतरे में है लोकतंत्र
सिद्धांतहीन नीतीश की इस बार अंतिम पलटीः लालू यादव
हाइपोथर्मियाः कोटा, बीकानेर एवं राजकोट में अब तक 500 से उपर बच्चों की मौत
पुलिस सुरक्षा बीच भरी सभा में युवक ने केंद्रीय मंत्री को यूं जड़ दिया थप्पड़
मोदी-मनमोहन मिलन में यूं दिखा भारतीय लोकतंत्र की खूबसूरती
‘रेप को रोक न पाओ तो मजा लो’, सासंद पत्नी ने की पोस्ट, मचा बवाल
गुजरात दंगों में नरेंद्र मोदी पर उंगली उठाने वाले चर्चित पूर्व IPS को उम्रकैद
देश में 50 करोड़ मोबाइल सीम कार्ड बंद होने का खतरा
सनातन धर्मावलंबियों की सुसभ्य संस्कृति वाहक है मंदार पर्वत
सुपारी टीवी पत्रकार हैं अर्नब गोस्वामी  :राहुल कंवल
डॉक्टरी भी चढ़ गयी ग्लोबलाइजेशन की भेंट !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter