अब परचून की दुकानों में शराब बेचेगी भाजपा सरकार

Share Button

उत्तराखंड में शराब बेचने का लाइसेंस पाने के लिए पांच लाख रुपये फीस भरनी होगी और इसके लिए दुकान का सालाना टर्नओवर 50 लाख रुपये होना चाहिए।“

(INR).  उत्तराखंड में भाजपा सरकार ने आबकारी नीति में कई तरह के संशोधन कर दिए हैं। इसके तहत अब विदेशी शराब और वाइन मोहल्ले में परचून की दुकानों पर बेची जा सकेगी।

शराब बेचने का लाइसेंस पाने के लिए पांच लाख रुपये फीस भरनी होगी और इसके लिए दुकान का सालाना टर्नओवर 50 लाख रुपये होना चाहिए। लाइसेंस की समय सीमा भी अब एक साल की जगह 3 साल कर दी गई है ।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। कैबिनेट मंत्री मदन कौशिक ने बताया कि आबकारी विभाग द्वारा पेश किए आबकारी संशोधन संबंधी प्रस्ताव को सर्वसम्मति से मंजूरी दे दी गई है। नए संशोधन के बाद शराब की दुकानों के समूहों के आवंटन को रद्द कर दिया गया है ।

सरकार ये संशोधन इसलिए लेकर आई है क्योंकि पिछले दिनों ही जारी हुई आबकारी नीति पर विवाद उत्पन्न हो गया था जिसमें बीस किमी के भीतर चार दुकानों के समूहों का आवंटन एक व्यक्ति या फर्म को देने का प्रावधान था।

संशोधित आबकारी नीति के अनुसार बीस कमरों तक के होटल को दिए जाने वाले बार की लाइसेंस फीस को पांच लाख से घटाकर तीन लाख कर दिया गया है। लाइसेंस को अब हर साल की बजाय तीन साल में रिन्यू कराया जा सकेगा।

तीन साल की लाइसेंस फीस एक साथ जमा करवाने पर पॉलिसी में दस प्रतिशत छूट का प्रावधान दिया गया है। सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के पीछे लाभ का उद्देश्य नहीं है। इस कदम का उद्देश्य शराब की अवैध बिक्री पर नजर रखना है।

चालू वित्त वर्ष की आबकारी नीति से रेस्टोरेंट और बार मालिक खुश नहीं थे और इसकी समीक्षा की मांग कर रहे थे। विदेशी शराब की बिक्री करने वाले डिपार्टमेंटल स्टोर की लाइसेंस फीस तीन लाख रुपये से बढ़ाकर पांच लाख रुपये कर दी गई है।

हालांकि, कारोबार के सालाना टर्नओवर की सीमा पांच करोड़ से घटाकर पचास लाख और होटल, रेस्टोरेंट और बार के लिए पके भोजन की सालाना बिक्री की सीमा बारह लाख से घटाकर दस लाख कर दी गई है ।

गौरतलब है कि सरकार ने राजस्व में इजाफा करने के लिए बीस किमी के दायरे में एक स्थान पर चार शराब आउटलेट के क्लस्टर को मंजूरी दी थी।

इस कदम का कांग्रेस ने विरोध किया था और भाजपा पर शराब माफिया के पक्षधर होने का आरोप लगाया था। जिसके बाद इस फैसले को वापस ले लिया गया था।

कांग्रेस के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा था कि सरकार राज्य में शराब लाइसेंस वितरण प्रणाली के लिए क्लस्टर अप्रोच खास उद्देश्य से लेकर आई है, जिसका काम शराब माफिया को सीधे फायदा पंहुचाना है। क्योंकि सिर्फ बड़े खिलाड़ी ही इसमें भाग ले सकते हैं।

0 0
0 %
Happy
0 %
Sad
0 %
Excited
0 %
Angry
0 %
Surprise
Share Button

Related News:

अन्ना के अनशन को लेकर चिंतित है अमेरिका!
लेकिन, प्राईवेट स्कूलों की जारी रहेगी मनमानी, बोझ ढोते रहेंगे मासूम
"सिर्फ़ सनसनी फैलाकर झारखण्ड में आगे बढना चाहती है "दैनिक जागरण" !!"
‘हवा-हवाई’ हो गईं भारतीय फिल्मों की ‘चांदनी’
प्रशासन को ठेंगा दिखा अपने अवैध होटल का विस्तार करने में मस्त है राजगीर का यह कथित जर्नलिस्ट
उपमुख्यमंत्री सुदेश की अनुभवहीनता कही ले न डूबे मुख्यमंत्री शिबू सोरेन की लुटिया
मानव भ्रष्टाचार के नाम पर राजनीति कब तक !!
अपने बच्चों को बाज़🦅बनाईए, ब्रायलर🐥नहीं
पत्रकार वनाम झारखंड सरकार की रेवड़ियां
एक और नीरव मोदी ने किया 187 करोड़ का घोटाला, PNB समेत 6 बैंकों को लगाया चूना
भाजपा-झामुमो में आज ११:३० बजे होगा तलाक
भागलपुर मे भारी विरोध: राहुल जी बिहार के लोग खासकर युवा अब पहले जैसा नहीं रहा!!
रसोईया दंपति ने पहले प्रधान शिक्षक को पीटा,फिर किया रेप का केस,मुखिया ने पहले दी धमकी,फिर कराया रेप ...
झारखण्ड:कोडा लूट-राज की जांच करने वालो के परिवारो पर आफत शुरू
सरकारी दलालों के हाथ कलप-कलप के मर रहे हैं हमारे अन्नदाता
मौन व्रत खत्म हुआ,अब गांवों में जाकर नीतिश की खोलेंगे पोलः लालू
परमिट के नाम पर बसों की चांदी, यात्रियों की जान के साथ कर रहे खिलवाड़
सुशासन बाबू:अब आपही बताईये कि दोषी कौन?कुशासन या किसान?
ई है बिहार के "सुशासन बाबू" की कैसी "सुशासित नालन्दा नगरिया"!
मुझे माफ करना अन्ना,मैं इन दलालों पर शर्मिंदा हूं.....
झारखण्ड:पेसा कानून के तहत पंचायत चुनाव कराना सिबू सरकार के लिये एक गंभीर चुनौती/आपस मे खुलकर टकरायेग...
नालोशिप्रा का राजगीर सीओ को अंतिम आदेश, मलमास मेला सैरात भूमि को 3 सप्ताह में कराएं अतिक्रमण मुक्त
भाजपा नेता को घर में घुसकर सपरिवार गोलियों से भून डाला, बेटा-भाई समेत 5 की मौत
आधार कार्ड का सॉफ्टवेयर हुआ हैक, कोई भी बदल सकता है आपका डिटेल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
Close
error: Content is protected ! india news reporter